भाई की गिरफ्तारी पर आप विधायक ने कहा, भाजपा के दबाव में कार्रवाई

Feb 28, 2017
भाई की गिरफ्तारी पर आप विधायक ने कहा, भाजपा के दबाव में कार्रवाई

आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक राजेश ऋषि के भाई को पार्किं ग के विवाद को लेकर एक बुजुर्ग महिला से मारपीट के आरोप में सोमवार को गिरफ्तार कर लिया गया। राजेश ऋषि ने पुलिस पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दबाव में काम करने का आरोप लगाया है। पश्चिमी दिल्ली के डाबड़ी में रविवार रात हुई घटना में जनकपुरी से विधायक राजेश ऋषि के भाई राजीव ऋषि पर पीड़िता से छेड़खानी करने तथा उनके पति वीरेंद्र सिंह से हाथापाई करने का आरोप लगाया गया है।

पुलिस ने कहा कि पार्किं ग के मुद्दे पर दंपति पर हमला करने के आरोप में ऋषि तथा उसके दोस्त सतीश यादव को गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस उपायुक्त सुरेंद्र कुमार ने आईएएनएस से कहा, “डाबड़ी में कार पार्किं ग को लेकर दंपति के विरोध के बाद राजेश तथा सतीश ने अपने कुछ समर्थकों तथा आप कार्यकर्ताओं को साथ लेकर अपने पड़ोसियों से झगड़ा किया। पार्किं ग से स्थानीय लोगों को असुविधा हो रही थी।”

ये भी पढ़ें :-  दो बहनों को घर के अंदर जलाकर की गई हत्या, 18 फरवरी को होने वाली है भाई की शादी

जनकपुरी से विधायक राजेश ऋषि ने अपने भाई के खिलाफ लगे आरोपों से इनकार करते हुए कहा कि पुलिस भाजपा के दबाव में काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि उनके भाई ने किसी पर हमला नहीं किया, बल्कि उनके भाई पर ही हमला किया गया।

विधायक ने आईएएनएस से कहा, “आप उस वक्त क्या करेंगे, जब लोग आपके घर में जबरदस्ती घुस जाएंगे और गालियां देनी शुरू कर देंगे? हमने पहले पुलिस को बुलाया और शिकायत दर्ज करने को कहा। लेकिन, पुलिस ने हमारी शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज नहीं की और मेरे भाई के खिलाफ ही मनगढ़ंत आपराधिक आरोप लगा दिए।”

ये भी पढ़ें :-  निमोनिया से पीड़ित 15 माह की बच्ची को तांत्रिक ने गर्म सलाख से दागा, हालत गंभीर

उन्होंने कहा, “जिस वक्त घटना हुई, मैं अपने घर पर नहीं थी। अगर मैं घर पर होता, तो पुलिस मेरे खिलाफ भी झूठा आरोप लगा देती।”

दिल्ली पुलिस विभिन्न आरोपों में अब तक आप के 16 विधायकों को गिरफ्तार कर चुकी है, लेकिन इन पर आरोप को सही साबित करने में उसे अदालत में जूझना पड़ा है।

पुलिस उपायुक्त सुरेंद्र कुमार ने कहा कि बुजुर्ग दंपति ने आप समर्थकों से कार को रास्ते से हटाने की मांग की थी।

पुलिस के मुताबिक, पीड़ितों ने आरोप लगाया है कि पार्किं ग की समस्या तब पैदा हुई, जब भारी तादाद में लोग राष्ट्रीय राजधानी में होने वाले निकाय चुनाव को लेकर टिकट मांगने के लिए ऋषि के घर आने लगे।

ये भी पढ़ें :-  कासगंज हिंसा: AMU छात्रों की मांग-'चंदन के परिजनों को मिले 50 लाख रुपये का मुआवजा'

कुमार के मुताबिक पीड़ित ने कहा, “पार्टी के कुछ कार्यकर्ताओं को शाम में कार में शराब पीते हुए पाया गया।”

अधिकारी ने कहा कि दंपति ने कहा कि वे ऋषि के पास पार्किं ग समस्य को लेकर बात करने गए थे, लेकिन इसके बदले दोनों लोगों ने हाथापाई की।

कुमार ने कहा कि पूरी घटना को कुछ स्थानीय नागरिकों ने अपने मोबाइल फोन में कैद कर लिया।

दोनों पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धाराओं के तहत गलत तरीके से रोकने, जानबूझकर चोट पहुंचाने, महिला की लज्जा भंग करने के इरादे से मारपीट करने तथा आपराधिक इरादे का मामला दर्ज किया गया है।

अधिकारी ने कहा कि चिकित्सकीय जांच में महिला के शरीर के ऊपरी हिस्से में चोट पाई गई।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>