स्मृति-भागवत का तड़का : अब ‘माया’ ने लिया काली का रूप, मोदी बोले- माफ करो

Apr 25, 2016

यूपी में राजनीति बड़ी ही मायावी है। कभी केशव को कृष्ण बनाती है तो ओवैसी, अखिलेश, राहुल व अन्य को कौरव वंशी बना डालती है। इस बार बारी संघ प्रमुख मोहन भागवत की है। एक और पोस्टर सामने आया है जिसमें मायावती को काली, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को राक्षस रक्तबीज और संघ प्रमुख को शिव के रूप में दिखाया गया है। काली बनीं मायावती के पैरों तले संघ प्रमुख को दिखाया गया है और मोदी को माफी मांगते दिखाया गया है।

द्वापर-त्रेता युग तक पहुंची पोस्टर वॉर
जी हां, राजनेताओं के दैविक व राक्षस स्वरूप में अवतरित होने का जो सिलसिला चल निकला है वह अब द्वापर-त्रेता तक पहुंचता जा रहा है। इस बार नंबर आया है बसपा सुप्रीमो मायावती का। अंबेडकर शोभा यात्रा के दौरान मायावती को काली के रूप में पेश कर दिया गया है।

स्मृति-भागवत का तड़का
मामला यहीं तक होता तो भी कोई नई बात नहीं थी। पोस्टर में मोहन भागवत और स्मृति ईरानी का भी तड़का है। काली रूपी मायावती के एक हाथ में रक्तबीज रूपी स्मृति ईरानी का सिर तो पैरों तले हैं संघ प्रमुख मोहन भागवत। बगल में हाथ जोड़े खड़े हैं पीएम मोदी, जो कह रहे हैं, ‘बहन जी हमें माफ करो, हम आरक्षण बंद नहीं करेंगे’…और इसी के साथ ये पोस्टर भी विवादों में शामिल भी हो गया है। हाथरस जिले के क़स्बा सादाबाद में रविवार की रात में निकली अंबेडकर शोभायात्रा में शामिल एक झांकी में यही झलक देखने को मिली।

पोस्टर से बढ़ा विवाद
इस पोस्टर की ख़बर लगते ही पुलिस प्रशासन सगज हो गया और थोड़ी ही देर में इस पोस्टर को फाड़ दिया गया, लेकिन तब तक हंगामा हो चुका था। जिले में इस पोस्टर को लेकर माहौल गर्म बना हुआ है।

दूसरी ओर अभी तक भाजपा और संघ की ओर से किसी तरह की प्रतिक्रिया नहीं मिल सकी है।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

Jan 19, 2018

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>