इसलिए राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण समारोह में नहीं शामिल हुई मायावती

Jul 28, 2017
इसलिए राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण समारोह में नहीं शामिल हुई मायावती

रामनाथ कोविंद ने 14वें राष्ट्रपति के तौर पर मंगलवार को अपने पद की शपथ ली। जहाँ संसद के केंद्रीय हॉल में सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जे एस खेहर ने उन्हें पद की शपथ दिलाई थी। लेकिन ऐसा कहा जा रहा है। कि इस कार्यक्रम में सत्ता पक्ष और विपक्ष के कई बड़े नेताओं ने शिरकत की थी। लेकिन बसपा मुखिया और पूर्व सीएम मायावती ने इस ऐतिहासिक प्रोग्राम में शामिल नही हुईं।

बता दें कि मंगलवार को 14वें राष्ट्रपति के तौर पर शपथ लेने वाली रामनाथ कोविंद के इस समारोह में बसपा मुखिया और पूर्व सीएम मायावती शामिल नहीं हुईं। लेकिन उनकी ओर से बसपा महासचिव सतीशचन्द्र मिश्र शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए थे। इस बात को लेकर विशेषज्ञों ने बड़ा खुलासा किया है।

ये भी पढ़ें :-  शर्मनाक: मथुरा के मंदिर में साध्वी का हुआ रेप, CCTV में कैद हुई वारदात

पॉल‍िटिकल साइंस के प्रोफेसर वर्मा ने बताया कि, “मायावती की दिक्कत सेल्फ इम्पाॅरटेंस है। ये पहली बार नहीं है जब वो इस तरह के प्रोग्राम में शामिल नहीं हहुईं हैं। इससे पहले भी जब 19 मार्च को योगी आदित्यनाथ का सीएम के रूप में शपथग्रहण समारोह का प्रोग्राम था, तब भी मायावती उस प्रोग्राम में शामिल नहीं हुईं थीं। और इस तरह के कई ऐसे आयोजन हुए, ज‍िसमें बसपा चीफ नहीं नज़र आईं”

प्रोफेसर वर्मा आगे कहते हैं कि, “इसका सबसे बड़ा कारण ये है कि मायावती खुद को काफी ज्यादा इम्पाॅरटेंस देती हैं और खुद को दलितों का एक मात्र नेता समझती हैं। अगर वह एक मात्र दलित नेता होतीं तो उन्हें विधानसभा चुनाव में 19 सीटों से संतोष नहीं करना पड़ता। राष्ट्रपत‍ि के शपथ ग्रहण समारोह में मायावती को जाना चाहिए था, क्योंकि ये एक संवैधानिक पद का शपथ ग्रहण था, न की किसी पार्टी विशेष का कोई प्रोग्राम था।”

ये भी पढ़ें :-  PM मोदी की सुरक्षा की ड्यूटी में लगाए गए SI की सड़क हादसे में मौत..
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>