मथुरा हिंसा: एक अलग शहर था जवाहरबाग, ब्यूटी पार्लर से लेकर बॉडी मसाज तक की थी सुविधाएं

Jun 04, 2016

नयी दिल्ली (ब्यूरो)। मथुरा के राजकीय उद्यान जवाहरबाग को कब्जाकर सत्याग्रह की आड़ में समानांतर सरकार चलाने वाले रामवृक्ष यादव के एक इशारे पर गुरुवार को मौत का जो नंगा नाच किया उसकी जितनी भी आलोचना की जाए कम है। अब जवाहरबाग पूरी तरह साफ हो चुका है मगर अंदर से जो बाते सामने आ रही हैं वो चौकाने वाली हैं। जी हां जवाहरबाग कहने के लिए जंगल था लेकिन उसके अंदर एक पूरा शहर बसा हुआ था। आपको शायद यकीन नहीं होगा लेकिन जवाहरबाग में बसे इस शहर में आटा चक्की से लेकर राशन डिपो, सब्जी मंडी, सैलून, ब्यूटी पार्लर समेत तमाम सुविधाएं थीं। चौंकाने वाली बात ये है कि जो सत्याग्रही खुद को गरीब-मजदूर कह रहे थे उनके पास स्पोटर्स बाइक और लग्जरी गाडि़यां भी थीं।

ये भी पढ़ें :-  मुलायम के 10 से ज्‍यादा क़रीबी दाग़ी नेताओं का टिकट काटेंगे अखिलेश यादव, जानिए नाम

 

अंदर ही बना लिया था पॉवर हाउस

जवाहरबाग से कब्जेदारी हटाने के लिए सरकार ने जब वहां की बिजली काट दी तो इन सत्याग्रहियों ने अंदर ही पूरा सोलर सिस्टम लगा लिया। सत्याग्रहियों ने उद्यान विभाग के कुए और ट्यूबवेल कब्जा लिए। जो जानकारी मिल रही है उसके मुताबिक जवाहरबाग में ट्रकों में सामान आता था। सोलर सिस्टम से टीवी चलाए जाते थे। लाउडस्पीकर गूंजते थे।

रात को आता था ट्रक से सामान

जानकारी के मुताबिक जवाहरबाग में रात के अंधेरे में ट्रकों से राशन आता था। इसमें गेहूं, धान, चीनी, तेल होता था। रसोई गैस के सिलेंडर भी आते थे। 

ये भी पढ़ें :-  सपा और कांग्रेस के बीच गठबंधन हुआ पक्का, इतनी सीटों पर चुनाव लड़ेगी कांग्रेस

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected