नक्सलियों के साथ मिलकर हत्या करने में फंसे दिल्ली यूनिवर्सिटी और जेएनयू के प्रोफेसर, छह लोगों पर केस दर्ज

Nov 08, 2016
नक्सलियों के साथ मिलकर हत्या करने में फंसे दिल्ली यूनिवर्सिटी और जेएनयू के प्रोफेसर, छह लोगों पर केस दर्ज
दिल्ली विश्वविद्यालय की प्रोफेसर नंदिनी सुंदर और जेएनयू प्रोफेसर अर्चना प्रसाद समेत छह लोगों पर हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ है। आरोप है कि नक्सलियों के साथ मिलकर दोनों प्रोफेसर ने बीते चार अक्टूबर को सोमनाथ बघेल  की हत्या में भूमिका निभाई।  बघेल की पत्नी की शिकायत पर प्रोफेसर नंदिनी सुंदर, अर्चना प्रसाद सहित छह लोगों पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है।
प्रोफेसर के खिलाफ शिकायत पर नक्सलियों ने दी थी धमकी
बघेल की पत्नी ने बताया कि जून माह में नंदिनी सुंदर के खिलाफ तोंगपाल थाने में सोमनाथ व अन्य ग्रामीणों ने शिकायत दर्ज कराई थी। जिसके बाद से ही सोमनाथ समेत अन्य ग्रामीणों को जान से मारने की नक्सली धमकी मिल रही थी। आखिरकार हथियारबंद नक्सलियों ने उसकी हत्या कर दी थी। आईजी एसआरपी कल्लूरी ने बताया कि इस मामले में शिकायत के आधार पर मामले की विवेचना की जा रही है। सोमनाथ के हत्यारों को बख्शा नहीं जाएगा।

डीयू प्रोफेसर नंदिनी सुंदर समेत दो अन्य लोगों के खिलाफ दरभा थाने में शिकायत दर्ज कराने वाले सोमनाथ बघेल की नक्सलियों ने 4 अक्टूबर को बेरहमी से हत्या कर दी थी। करीब 20 नक्सली गांव आए और दरवाजा तोड़कर घर में घुसे और सोमनाथ को चाकूओं से गोद कर मार डाला। जून माह में सोमनाथ ने ग्रामीणों की अगुवाई करते हुए दरभा थाने में नंदिनी सुंदर के खिलाफ शिकायत की थी। इसमें आरोप लगाया गया था कि नंदिनी सुंदर ने ऋचा केशव के छद्म नाम से अर्चना प्रसाद व दो अन्य लोगों के साथ कुमाकोलेंग व नामा गांव का दौरा कर ग्रामीणों को शासन-प्रशासन व फोर्स के खिलाफ भड़काया था।
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>