नगर निकाय चुनाव में मिली जीत पर बोली ममता, पहाड़ी क्षेत्र में नए युग की शुरुआत

May 17, 2017
नगर निकाय चुनाव में मिली जीत पर बोली ममता, पहाड़ी क्षेत्र में नए युग की शुरुआत

पश्चिम बंगाल के पहाड़ी क्षेत्र में नगर निकाय चुनाव में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के शानदार प्रदर्शन के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को कहा कि दशकों बाद इस क्षेत्र में एक नए युग की शुरुआत हुई है। तृणमूल कांग्रेस ने राज्य में पहली बार पहाड़ी क्षेत्र में गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) के एक दशक लंबे एकाधिकार को खत्म कर दिया है। राज्य निर्वाचन आयोग ने नगर निगम चुनाव के लिए 14 मई को हुए मतदान के परिणाम बुधवार को घोषित किए।

तृणमूल कांग्रेस ने मिरिक अधिसूचित क्षेत्र पर कब्जा कर लिया और दार्जिलिंग, कुर्सियांग और कलिम्पोंग नगर निकायों में भी सीटें हासिल की है।

इसके अलावा राज्य के अन्य इलाकों में तृणमूल कांग्रेस ने सभी विपक्षी दलों का सफाया कर दिया। तृणमूल ने डोमकल, रायगंज और पुजाली नगरपालिओं पर कब्जा कर लिया है। कांग्रेस-वाम मोर्चा गठबंधन और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का सफाया हो गया है।

ये भी पढ़ें :-  अयोध्या के मंदिर-मस्जिद मामले में राम मंदिर के मुख्य पक्ष महंत भास्कर दास का निधन

ममता ने ट्वीट किया, “फिर से हम पर भरोसा जताने के लिए मां माटी मानुष को बधाई।”

उन्होंने लोकतांत्रिक प्रक्रिया में भाग लेने के लिए दार्जिलिंग, कुर्सियांग, कलिम्पोंग, मिरिक के मतदाताओं का स्वागत किया। तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ने कहा, “हम पर भरोसा जताने के लिए मिरिक को विशेष धन्यवाद। हम आपके लिए ईमानदारी से कार्य करेंगे। कई दशकों बाद हमने पहाड़ी में एक नए युग की शुरुआत की है।”

पहाड़ी क्षेत्र में पार्टी की सफलता का स्वागत करते हुए राज्य के खेल मंत्री अरुप विश्वास ने कहा कि राज्य सरकार का पहाड़ी क्षेत्र में लोकतंत्र स्थापित करने का प्रयास पूरा हुआ है।

ये भी पढ़ें :-  अपनी बेटी को छेड़छाड़ से रोकने आये माँ-बाप को आरोपी ने किया बेरहमी से क़त्ल

पहाड़ी क्षेत्र में पार्टी के नगर निकाय चुनाव के प्रभारी विश्वास ने कहा, “ममता बनर्जी लंबे समय से पहाड़ी क्षेत्र में लोकतंत्र स्थापित करने का प्रयास कर रही हैं। उनका पहाड़ी क्षेत्र का सपना आज पूरा हुआ है। उनकी सबड़े बड़ी सफलता आजादी के बाद पहली बार पहाड़ी क्षेत्र में लोकतांत्रिक माहौल की स्थापना है।”

उन्होंने कहा, “मिरिक का परिणाम पहाड़ी क्षेत्र में ममता बनर्जी के विकास मॉडल का नतीजा है। मिरिक के लोगों की लंबे समय तक उपेक्षा की गई। इलाके में कोई विकास नहीं हुआ था। लोगों ने विकास के लिए तृणमूल कांग्रेस को मतदान किया है।”

हालांकि, गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) प्रमुख बिमल गुरुं ग ने कहा कि मिरिक में मतगणना में गड़बड़ी हुई है और उन्होंने फिर से मतगणना की मांग की।

ये भी पढ़ें :-  जापान के शिंजो आबे और उनकी पत्नी को पीएम मोदी ने ऐतिहासिक ‘सीदी सैय्यद मस्जिद’ का कराया दीदार

गुरुं ग ने कहा, “मिरिक में कुछ गड़बड़ी हुई। मतगणना की शुरुआत सुबह 8.30 बजे होनी थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। मैंने इस बारे में शिकायत की और फिर से मतगणना की मांग की है। हालांकि, हम वहां के सभी मुद्दों के समाधान के लिए काम करते रहेंगे।”

गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के कलिम्पोंग और दार्जिलिंग नगर निकायों में सफलता पर गुरुं ग ने कहा, “यह आम जनता की जीत है।”

कांग्रेस नेता मनोज चक्रवर्ती ने कहा कि यह परिणाम जन इच्छा को प्रदर्शित नहीं करते।

उन्होंने आरोप लगाया, “हर किसी ने टेलीविजन पर देखा है कि मतदान के दिन क्या हुआ। मतदाताओं और विपक्षी कार्यकर्ताओं को धमकी दी गई। तृणमूल द्वारा वोट लूटे गए।”

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>