मल्लपुरम उपचुनाव: 5,15,330 लाख वोटों से आईयूएमएल विधायक पी.के. कुन्हालीकुट्टी ने जीत की दर्ज, बीजेपी तीसरे नम्बर पर

Apr 17, 2017
मल्लपुरम उपचुनाव: 5,15,330 लाख वोटों से आईयूएमएल विधायक पी.के. कुन्हालीकुट्टी ने जीत की दर्ज, बीजेपी तीसरे नम्बर पर

इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (आईयूएमएल) के विधायक पी.के. कुन्हलिकुट्टी, जिन्होंने सोमवार को केरल की मल्लपुरम लोकसभा सीट पर जीत हासिल कर ली, का कहना है कि ‘शिक्षित केरल ने धर्मनिरपेक्ष राजनीति के लिए मतदान किया है’। आईयूएमएल के दिग्गज नेता ने 1,71,038 लाख वोटों के अंतर से जीत दर्ज की है। उन्हें 5,15,330 लाख वोट मिले हैं।

उत्साहित कुन्हलिकुट्टी ने संवाददाताओं से कहा, “मैं यही कहूंगा कि शिक्षित केरल ने धर्मनिरपेक्ष राजनीति के लिए मतदान किया है। केरल ने कभी भी सांप्रदायिक आधार पर मतदान नहीं किया। बल्कि यहां हमेशा राजनीतिक आधार पर मतदान हुआ है।”

उन्होंने कहा, “भाजपा को सबसे बड़ा नुकसान हुआ है। आईयूएमएल की बात करें तो हम दो विधानसभा क्षेत्रों – पेरिंथलमन्ना और मनकडा में सशक्त रूप से लौटे हैं।”

आईयूएलएस 2016 के विधानसभा चुनाव में केवल इन्हीं दो सीटों पर जीत पाई थी।

कुन्हलिकुट्टी ने कहा, “इस बार वहां हमारा प्रदर्शन काफी बेहतर हुआ है। इससे साफ जाहिर है कि वाम मोर्चा ने बेहद खराब प्रदर्शन किया है।”

हालांकि, 2014 के लोकसभा चुनाव में तत्कालीन आईयूएमएल उम्मीदवार ई.अहमद 1.94 लाख से भी अधिक वोटों के अंतर से जीते थे।

मल्लपुरम सीट अहमद के निधन से रिक्त हो गई थी।

माकपा के एम.बी. फैजल को 3,44,307 वोट हासिल हुए, जबकि भाजपा के एन. श्रीप्रकाश 65,675 वोटों से तीसरे स्थान पर काफी पीछे रह गए।

कुन्हलिकुट्टी को 55.04 प्रतिशत वोट मिले हैं, जबकि अहमद को 51.28 प्रतिशत वोट हासिल हुए थे।

वाम मोर्चा का वोट प्रतिशत 2014 के 28.47 प्रतिशत से बढ़कर 36.7 प्रतिशत हो गया। वहीं भाजपा का वोट प्रतिशत 7.59 प्रतिशत से गिरकर 7.01 प्रतिशत ही रहा।

इस सीट के लिए 12 अप्रैल को वोट डाले गए थे, जिनमें 71.33 प्रतिशत मतदान हुआ था।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>