मालेगांव विस्फोट मामले को कमजोर किया गया : कांग्रेस

Apr 26, 2017
मालेगांव विस्फोट मामले को कमजोर किया गया : कांग्रेस

वर्ष 2008 के मालेगांव विस्फोट मामले की मुख्य अभियुक्त साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को उच्च न्यायालय द्वारा जमानत दिए जाने पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि इस मामले को कमजोर किया गया है, जांच एजेंसी द्वारा इसे गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है। मालेगांव में एक मस्जिद के पास किए गए विस्फोट में छह लोगों की मौत हुई थी।

कांग्रेस की प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा, “इस मामले को 2014 में भाजपा के सत्ता में आने के बाद कमजोर किया गया और गंभीरता के साथ नहीं लिया गया है, यह अब खुलकर सामने आ गया है। जब रोहिणी सलियन सरकारी अभियोजक थीं तो उन्होंने कहा था कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) साक्ष्यों के रिकॉर्ड को कमजोर करने के लिए बहुत ज्यादा दबाव बना रही है।”

उन्होंने कहा, “यह उन परिवारों के साथ धोखा है, जो न्याय की उम्मीद कर रहे हैं। क्या सरकार ने उन सवालों पर कार्रवाई की, जिस पर रोहिणी सलियन ने सवाल उठाए थे और क्या इसे गंभीरता से लिया गया?”

जिस साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को कांग्रेस ‘भगवा आतंकवाद’ की प्रतीक बताती रही, उन्हें बंबई उच्च न्यायालय ने मंगलवार को जमानत दे दी। प्रज्ञा को गिरफ्तारी के नौ साल बाद जमानत मिली है।

उच्च न्यायालय ने हालांकि इस मामले में सह आरोपी पूर्व सेना अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद श्रीकांत पुरोहित की याचिका खारिज कर दी। पुरोहित ने एक निचली अदालत द्वारा जमानत याचिका खारिज किए जाने को चुनौती दी थी।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>