महंत राम दास ने बताई मदरसों की सच्चाई, बोले-‘मदरसों से आतंकी नहीं पूर्व राष्ट्रपति कलाम जैसी शख्सियत निकलती है’

Jan 12, 2018
महंत राम दास ने बताई मदरसों की सच्चाई, बोले-‘मदरसों से आतंकी नहीं पूर्व राष्ट्रपति कलाम जैसी शख्सियत निकलती है’

सेंट्रल शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी के मदरसों को आतंक से जोड़े जाने को लेकर देश के हिंदू और मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कड़ी आलोचना की है। फैजाबाद के हनुमानगढ़ी के महंत राम दास ने वसीम रिज़वी के बयान की कड़ी आलोचना की है।

बता दें कि पिछले दिनों शिया सेंट्रल वक्फ़ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिज़वी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चिट्ठी लिखकर मदरसा शिक्षा को खत्म करने की मांग करते हुए कहा था कि मदरसों में आतंकवादी की तालीम दी जाती है। इतना ही नहीं बल्कि उन्होंन ये भी लिखा कि इन मदरसों में आतंकवादियों को ट्रेनिंग और गोला-बारूद एक जगह से दूसरे जगह भेजा जाता है। वसीम रिजवी ने पत्र में लिखा कि कितने मदरसों ने डॉक्टर, इंजिनियर और आईएएस अफसर बना रहे हैं। लेकिन कुछ मदरसे ऐसे हैं बच्चों को मुख्यधारा से भ्रष्ट कर के आतंकवादी जरुर बना रहे हैं।

जिस पर हनुमानगढ़ी के महंत राम दास ने वसीम रिज़वी के बयानों की निंदा करते हुए कहा कि, ‘वसीम रिजवी को मदरसों पर इस तरह के बयान नहीं देनी चाहिए।’ उन्होंने कहा कि ‘मदरसे में भी अच्छी तालीम होती है।’ महंत राम दास ने वसीम रिजवी के बयान पर आगे कहा कि, ‘मदरसों से भी अच्छे अधिकारी अच्छे इंजीनियर और नेता निकल चुके हैं।’ उन्होंने कहा कि ‘पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम ने भी वहीं तालीम ली।’ इसके अलावा रिजवी के इस बयान पर मौलाना समीर हैदर ने कहा कि ‘लगता है वसीम रिजवी ने मदरसे से तालीम नहीं हासिल की है।’ उन्होंने कहा कि ‘वसीम रिजवी मदरसा जाकर तालीम का जायजा लें, फिर इस तरह का बयान दें।’

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>