कोलकाता: फ्लाईओवर हादसे में निर्माण कंपनी ‘IVRCL’ के तीन अधिकारि गिरफ्तार

Apr 02, 2016

विवेकानंद फ्लाईओवर हादसे में कोलकाता पुलिस ने निर्माण कंपनी ‘IVRCL’ के तीन अधिकारियों को लम्बी पूछताछ के बाद शुक्रवार शाम गिरफ्तार कर लिया.

हादसे के बाद पुलिस ने कंपनी के कुछ अधिकारी समेत दस कर्मचारियों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था.

शुक्रवार शाम कंपनी के एजीएम मल्लिाकार्जुन, स्ट्रकचरल इंजीनियर प्रदीप साहा और एचआर (एडमिनिस्ट्रेशन) देवज्योति मजूमदार को गिरफ्तार कर लिया गया. मामले में और गिरफ्तारी संभव है. कोलकाता पुलिस की एक टीम हैदराबाद पहुंच गई है.

कोलकाता में निर्माणाधीन फ्लाईओवर के ध्वस्त हुए हिस्से के मलबे से चार और शव मिलने के बाद इस घटना में मरने वालों की संख्या बढ़कर 25 हो गई है.

सेना के अधिकारियों ने शुक्रवार को कहा कि उन्हें मलबे में कोई और शव मिलने की उम्मीद नहीं है. इस बीच पुलिस ने कंस्ट्रक्शन कंपनी के पांच कर्मचारियों को हिरासत में ले लिया है. कोलकाता फ्लाईओवर हादसे के सैंपल इकट्ठे करने के लिए दुर्घटनास्थल पर फॉरेंसिक टीम पहुंच गई और नमूने जांच के लिए ले गई है.

सेना यहां निकाय अधिकारियों और एनडीआरएफ की टीमों के साथ राहत अभियान में लगी है. प्रभावित इलाके से मलबे को हटाने के लिए सिविल डिफेंस, पुलिस और एनडीआरएफ के साथ सेना की बचाव टीमों ने पूरी रात अभियान चलाया.

फ्लाईओवर गिरने वाली जगह पर चिकित्सा टीमों, सर्जनों और इंजीनियरों सहित सेना के लगभग 300 जवान मौजूद हैं.निर्माण कंपनी आईवीआरसीएल के लीगल हेड ने कहा इस हादसे से वे भी सदमे में हैं.

हम भी यह जानना चाहते हैं कि यह कैसे हुआ? उन्होंने कहा कि एक्ट आफ गॉड केवल हादसे पर एक प्रतिक्रिया थी, कहने का मतलब था कि इस पर किसी का कोई नियंत्रण नहीं है. यह एक हादसा है. हम इसमें किसी की जिम्मेदारी कैसे तय कर सकते हैं. उनकी लीगल टीम जांच में सहयोग कर रही है.

कोलकाता पुलिस ने हैदराबाद स्थित निर्माण कंपनी आईवीआरसीएल के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 304, 308 और 407 के तहत मामला दर्ज किया गया है तथा कंपनी के स्थानीय कार्यालय को सील कर दिया गया है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि इस परियोजना में दोषी पाए जाने पर किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने कहा, इस हादसे की जांच के लिए आईआईटी एवं जाधवपुर विश्वविद्यालय के विशेषज्ञों की एक समिति गठित की गई है. लोगों को बचाना हमारा प्राथमिकता है.

उनकी जिंदगियां सर्वाधिक मायने रखती हैं. मैं अभी कोई राजनीतिक टिप्पणी नहीं करना चाहती हूँ.

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>