जानिए आखिर क्यों? फांसी की सजा सुनाने के बाद तोड़ी जाती है पेन की निब

Mar 31, 2017
जानिए आखिर क्यों? फांसी की सजा सुनाने के बाद तोड़ी जाती है पेन की निब

दुनिया में अगर सबसे बड़ा अपराध आपने किया है तो उसकी सजा दुनिया की सबसे अंतिम सजा मौत की सजा होती है। अगर आपने कोई गंभीर अपराध किया है तो आपको मुकदमे की सुनवाई में हमेशा मौत की सजा मिलेगी। परंतु क्या आप जानते हैं कि जब जज हमें मौत की सजा सुनाता है तो वह कागजात पर अपनी हस्तक्षर करते हुए पैन की निब तोड़ देता है। परंतु इसके पीछे कोई भी कानून नियम नहीं है। कहते हैं कि मौत की सजा सुनाने के बाद पेन की निब तोड़ना एक प्रतीक माना जाता है।

ऐसा कहा जाता है कि अगर जिस पैन से किसी इंसान की मौत की सजा लिख दी गई है उस पेन का इस्तेमाल दोबारा नहीं करना चाहिए। क्योंकि जज यह सोचता है कि मैंने जिसको मौत की सजा दी है उसके फैसले के बाद अगर वह पेन की निब तोड़ देता है तो वह अपराधबोध हो जाता है। एक बार मौत की सजा सुनाने के बाद जज के पास कोई अधिकार नहीं होता है कि वह इस सजा का फेर बदल कर सके। इसीलिए इन सब कारणों की वजह से नियम को तोड़ दिया जाता है ताकि जज अपने फैसले को न बदल सके।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>