जानिए- कैसे आती है बच्चों में मोबाइल की लत

Mar 17, 2017
जानिए- कैसे आती है बच्चों में मोबाइल की लत

आजकल छोटे बच्चे पैदा होते ही मोबाइल की हर एक फीचर को जानने लगते हैं। यह क्या चीज कैसे चलती है परंतु उनकी यह लत कैसे उनमें आती है और किस हद तक आती है वह आपको आज हम बताएंगे।

अकेलापन– जिस माता पिता के पास एक बच्चा रहता है तो वह बच्चा अपने अकेलेपन को दूर करने के लिए मोबाइल को अपने मनोरंजन का साधन बना लेता है और उसका मनोरंजन कब उसके लिए एक लत बन जाती है उसे खुद भी नहीं पता चलता है।

वर्किंग पैरेंट्स– आजकल माता-पिता दोनों के दोनों नौकरी करने जाते हैं और जब वो थक हार के घर पर आते हैं । तो किसी न किसी का फोन आना फिर whatsapp पर मैसेज करना। इन सब चीजों को देखते देखते उनके बच्चे सीख जाते हैं कि यह सब चीजें कैसे चलाई जाती हैं और धीरे-धीरे वह भी उनका इस्तेमाल करने लगते हैं।

एकल परिवार
पहले माता पिता जब नौकरी करने जाते थे। उनकी देखभाल के लिए और बच्चों की देखभाल के लिए उनके पीछे दादा दादी चाचा चाची कोई न कोई उनके साथ रहता था।जो उनको उनके खेल में या उनको कुछ न कुछ सिखाने में लगा रहता था। परंतु आजकल अकेले होने के कारण बच्चों के पास कोई भी उनके साथ नहीं होता है जिस कारण वह मोबाइल को ही अपना मनोरंजन का साधन बना लेते हैं

सामाजिक परिवेश
बच्चे मोबाइल को अपना दोस्त कुछ इस वजह से भी बना लेते हैं क्योंकि जब वह देखते हैं कि उनके माता पिता भी समाज में उठते बैठते नहीं है कहीं बाहर नहीं जाते। तो उस हिसाब से बच्चे भी उसी माहौल में ढल जाते हैं और वह मोबाइल से ही दोस्ती कर बैठते हैं।

पैरेंट्स में भी गैजेट्स की लत- बच्चे जब देखते हैं कि वह कुछ मांग रहे हैं या कुछ खेलना चाहते। परंतु उनके माता पिता उनके साथ नहीं खेल रहे हैं और मोबाइल पर लगे हुए हैं तो बच्चे भी सोचते हैं कि शायद यह एक मनोरंजन का सबसे बड़ा साधन है इसलिए वह मोबाइल की लत को अपना लेते हैं।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>