झांसी की रानी की 7 साल की उमर में सांवले रंग के कारण हुई आलोचना

Mar 18, 2017
झांसी की रानी की 7 साल की उमर में सांवले रंग के कारण हुई आलोचना

पूरी दुनिया में रंगभेद एक बीमारी की तरह फैला हुआ है।  फिल्म और टीवी इंडस्ट्री में भी इसी तरह का बहुत मन है फिल्मी दुनिया में अक्सर रंगभेद को लेकर खबरें आती रहती है। टीवी इंडस्ट्री की एक अदा कारणे मनोरंजन की दुनिया में फैले इस रंग भेद का खुलासा किया है।

प्रोग्राम झांसी की रानी में मनु के बचपन का रोल निभा के मशहूर हुई अभिनेत्री उल्का गुप्ता का कहना है कि मैं 7 साल की उम्र में ही वह रंगभेद का शिकार हो गई थी। उस उम्र में उनका सीरियल रेशम डंक शुरू हुआ था पर टीआरपी कम होने के कारण ये सीरियल 6 महीने के अंदर बंद हो गया। उन्होंने कई सीरियल में काम करने का मौका मिला पर हमेशा उनके सावले रंग से सवाल उठाए गए थे। उल्का ने कहा मुझे बचपन से ही अदाकारी का बहुत शौक है।

ये भी पढ़ें :-  तो इसलिए गोद ली गई थी सलमान की बहन अर्पिता, सच्चाई उड़ा देगी आपके होश

पर छोटी उमर में ही मुझे इंडस्ट्री की हकीकत के बारे में पता लग गया था। रेशम डंक से खत्म होने के बाद में अपने पिताजी के साथ ऑडिशन देने जाती थी पर उस समय मुझे यह जानकर बहुत निराशा हुई थी निर्माता गोरी लड़की की तलाश में है। मेरा सांवला रंग होने के कारण मुझे बहुत बारी रिजेक्ट भी किया गया। कम कॉन्प्लेक्शन के कारण भी मुझे सात फेरे में सलोनी की लड़की का किरदार मिला था।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>