बिना इजाजत खादी कैलेंडर पर लगाई तस्वीर, नाराज हैं पीएम मोदी

Jan 16, 2017
बिना इजाजत खादी कैलेंडर पर लगाई तस्वीर, नाराज हैं पीएम मोदी

खादी ग्रामोधोग की आत्मा कहे जाने वाले राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की तस्वीर खादी ग्रामोधोग के कैलेंडर से हो गयी है गायब, आपको पता ही होगा कि खादी ग्रामोधोग हर साल अपना एक नया कैलेंडर और डायरी छपता है। लेकिन इस बार का कैलेंडर कुछ अलग है। इस साल के कैलेंडर में गाँधी की तस्वीर मोदी की तस्वीर कैलेंडर में लगाई गयी है। इस तस्वीर में गाँधी जी की तरह मोदी चरखा फेरते हुए दिखाई दे रहे है।

खादी ग्रामोधोग के चेयरमैन विनय सक्सेना से जब इस बारे में पुछा गया तो उन्होंने कहा की इसमें हैरानी वाली कोई बात नही है। इससे पहले भी कैलेंडर में किसी और की तस्वीर छपी है। पूरा खादी उधोग ही गाँधी जी के दर्शन और विचारो पर आधारित है। वो इस उधोग की आत्मा जैसे है। ऐसे में गाँधी जी को नजरंदाज करने का सवाल ही पैदा नही होता। लेकिन फिर भी गाँधी जी की जगह मोदी की तस्वीर लगा दी। सक्सेना ने आगे कहा की मोदी जी की वजह से खादी उधोग को नयी उर्जा मिली है। इसलिए उनके फोटो का इस्तेमाल हुआ। सक्सेना ने बताया कि 2015-16 में खादी की बिक्री 34 पर्सेंट बढ़ी, जबकि उससे पहले के दशक में इसमें 2-7 पर्सेंट का इजाफा हुआ था।

खादी और ग्रामोद्योग आयोग के कैलेंडर और डायरी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फोटो बिना इजाजत छापने से प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) काफी नाराज है। और इसने इस मामले में माइक्रो, स्मॉल और मीडियम एंटरप्राइजेज (एमएसएमई) से जवाब मांगा है। इस मामले में बड़े सरकारी अधिकारियों ने बताया कि पीएम इससे नाराज हैं। इस मुद्दे को लेकर राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल जैसे विपक्षी दलों के नेताओं ने सरकार की आलोचना की है। नाम नहीं छापने की शर्त पर अधिकारियों ने बताया कि बिना इजाजत सरकारी या प्राइवेट एंटिटी की तरफ से प्रधानमंत्री के फोटो के इस्तेमाल का यह पहला मामला नहीं है। एक बड़े अधिकारी ने बताया, ‘प्रधानमंत्री को खुश करने या उनके करीब दिखने के लिए ऐसा पहली बार नहीं हुआ है।’
उन्होंने कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज की टेलीकॉम कंपनी जियो और मोबाइल वॉलेट सर्विस फर्म पेटीएम के ऐड में भी प्रधानमंत्री की फोटो का बिना इजाजत इस्तेमाल हुआ था।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>