केजरीवाल से निपटने के लिए गलत तरीके से कब्जाया देश का बड़ा टीवी 18 नेटवर्क

Apr 18, 2016

नई दिल्ली : देश के सबसे रहीस आदमी को फिर झटका लगा है. इस बार मामला एक बड़े मीडिया ग्रुप पर गलत तरीके से कब्ज़ा जमाने का है. सेबी की अदालत (ट्रिब्यूनल) के मुताबिक देश की नंबर एक निजी कम्पनी रिलायंस के अध्यक्ष मुकेश अम्बानी ने नियमो को ताक पर रखकर टीवी 18 नेटवर्क पर कब्ज़ा ज़माया था. टीवी 18 नेटवर्क के पास CNN IBN और IBN -7 सहित CNBC के दर्ज़न भर चैनल, प्रकाशन और वेबपोर्टल हैं.

अग्रीमेंट से पहले ही कर लिया टीवी 18 पर कब्ज़ा
बाज़ार पर नज़र रखने वाली संस्था सेबी के अपेलेट ट्रिब्यूनल का कहना है कि मुकेश अम्बानी के रिलायंस प्रबंधन ने शेयर अग्रीमेंट करने के पहले ही टीवी 18 नेटवर्क का नियंत्रण अपने हाथ में ले लिया. ये कुछ ऐसा ही जैसे रजिस्ट्री कराने से पहले ही कोई किसी के बंगले में घुसकर रहने लग जाय. ट्रिब्यूनल अब रिलायंस की टीवी 18 नेटवर्क की डील की नये सिरे से जांच कर रहा है. ये जांच मुकेश अम्बानी के बिजनेस करने के मनमाने तरीकों को सार्वजनिक कर सकती है.

केजरीवाल से निपटने के लिए किया टीवी 18 पर कब्ज़ा

सूत्रों को मुताबिक नियमो को ताक पर रखकर एक झटके में ही टीवी 18 नेटवर्क हथियाने के पीछे की कहानी भी कम चौंकाने वाली नही है. दरअसल जब 2012-13 में अरविन्द केजरीवाल और प्रशांत भूषण एक के बाद एक रिलायंस इंडस्ट्री के घोटालों पर खुलासे कर रहे थे तो राघव बहल के टीवी 18 नेटवर्क पर भी जमकर ख़बरें दिखाई जा रही थीं. तक़रीबन डेढ़ हज़ार करोड़ के कर्जे में डूबे बहल को मुकेश अम्बानी ने इंडिपेंडेंट मीडिया ट्रस्ट के ज़रिये जनवरी 2012 में 4000 करोड़ रूपए के प्रस्तावित फंड्स का तोहफा दिया था. लेकिन बहल के चैनल में जब राजदीप सरदेसाई से लेकर हर प्रमुख पत्रकार केजरीवाल के खुलासों की सुर्खियाँ बनाने लगे तो अम्बानी आग बबूला हो गये. केजरीवाल के खुलासों को ब्लैक आउट करने के मकसद से अम्बानी ने बहल के समूचे नेटवर्क को ही एक सिरे से हथिया लिया.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

Jan 19, 2018

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>