कश्मीर के बिगड़ते माहौल के लिये हुर्रियत की अलगावादी नीति और जाकिर नाइक की विचारधारा जिम्मेदार: दरगाह दीवान

Jul 13, 2016

सूफी संत हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह के धर्म प्रमुख दरगाह दीवान सैयद जैनुल आबेदीन अली खान ने कहा कि कश्मीर में बिगड़ते माहौल के लिये हुर्रियत की अलगावादी नीति और जाकिर नाइक जैसे इस्लामिक उपदेशक की विचारधारा जिम्मेदार है.

दरगाह दीवान ने मंगलवार को ख्वाजा साहब के धर्मगुरू हजरत ख्वाजा उस्मान हरवनी के उर्स के समापन के बाद जारी बयान में कहा कि हुर्रियत कांफ्रेस नौजवानों की लाशों पर राजनीति करने में दिलचस्पी रखती हैं और कश्मीर के मौजूदा हालात इसकी परिणिती के रूप सामने आने लगे है जब कश्मीर का पढ़ा लिखा मुस्लिम नौजवान आलगाववादियों की विचारधारा से प्रभावित होकर हिंसा पर उतारू है.

उन्होंने कहा कि कश्मीर में शान्ति स्थापित करने के लिये भटकाव वाली विचारधारा का विरोध कश्मीर के मुस्लिम धर्म गुरूओं को खुलकर करना होगा.

उन्होंने साफ कहा कि इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक जैसे लोग धर्म के नाम पर कट्टरता फैला रहे हैं वो कितना भी कहे कि वो ये सब धर्म के लिए कर रहे हैं आखिर में गलत ही साबित होते हैं.

उन्होंने कश्मीर की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुऐ कहा कि कश्मीर घाटी में पिछले कुछ सालों से देखा जा रहा है कि अमरनाथ यात्रा आरम्भ होती है तो उसी समय अलगावादी संगठन हिंसा पर उतर आते हैं, लेकिन यह जानते हुए भी जम्मू-कश्मीर सरकार कानून व्यवस्था को बहाल रखने के लिए कोई अग्रिम नीति नहीं बना पाती, जिससे घाटी के हालात बाद से बदतर हो जाते हैं.

उन्होंने केंद्र सरकार को विश्वास दिलाया कि समुचे देश का मुसलमान उनके साथ है. केन्द्र सरकार अलगाववादियों के खिलाफ निर्णायक लड़ाई आरम्भ करे, क्योंकि अब देश हित में कड़े से कड़ा कदम उठाए जाने का समय आ चुका है.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>