कश्मीरियों के अकाउंट में आता है आतंकियों के लिए फंड: NIA

Aug 18, 2016

नई दिल्ली। कश्मीर में अशांति फैलाने के लिए सरहद के उस पार से करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे हैं। ऐसे में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) जम्मू में आतंकियों के पास पहुंचने वाली फंडिंग के रास्ते को तलाश रही है। एनआईए को इस बात का अंदेशा है कि आतंकियों के पास फंड पहुंचाने के लिए सामान्य लोगों के बैंक अकाउंट का इस्तेमाल किया जा रहा है।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इस पैसे का इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों के लिए वित्तीय मदद देने में किया जाता है। अधिकारियों ने बताया कि कश्मीरी लोगों के अकाउंट्स में इस माध्यम से जो पैसा भेजा जाता है, उसका एक हिस्सा कमीशन के तौर पर उनके बैंक खाते में ही छोड़ दिया जाता है। इसके लिए कश्मीरी युवाओं को खाड़ी देशों में काम दिलाने का भी लालच दिया जा रहा है।

इतना ही नहीं बैंक अकाउंट में पैसा आने के बाद उसे 24 घंटे के भीतर निकाल दिया जाता है। वहीं एक बार में एक लाख से ज्यादा पैसा नहीं भेजा जाता है। भारत में बैंक 10 लाख से ऊपर के संदिग्ध लेनदेन की शिकायत करते हैं। इसलिए रिजर्व बैंक की नजर में आने से बचने के लिए छोटी-छोटी रकम भेजी जाती है। ऐसे में ये आतंकी नेटवर्क जांच की परिधि से बचने के लिए कई बैंक खातों में पैसे भेजते हैं। एक खाते में कम से कम 3-4 महीने बाद ही दोबारा पैसा भेजा जाता है।

इसके अलावा एनआईए ने कुछ कश्मीरी कारोबारियों के बिलों की भी जांच की है। इसके साथ ही आयकर विभाग को कुछ कारोबारियों के बारे में जानकारी मांगी है। ताकि यह तय किया जा सके कि उनके द्वारा भेजे गए पैसों का इस्तेमाल क्या घाटी में आतंकवादी गतिविधियों की फंडिंग में किया गया। इस तरीके से घाटी में फंड आने की जानकारी सेना ने एनआईए को दी थी। इसके बाद एजेंसी ने जांच शुरू की।

पत्थर मारने और ग्रेनेड फेंकने के लिए पैसों का लालच

गौरतलब है कि गृह राज्य मंत्री किरेन रिजिजू ने भी कहा था कि घाटी में अशांति के लिए पाकिस्तान से कई करोड़ रुपये भेजे गए हैं। पहले भी भेजे जाते थे लेकिन इस बार पाकिस्तान के तेवर आक्रामक है। सूत्र बताते हैं कि आतंकियों ने घाटी में दंगा भड़काकर अशांति फैलाने में पैसा खर्च किया। सुरक्षा एजेंसियों ने सरकार को बताया कि कश्मीर के युवाओं को पैसा दिया जा रहा है। पत्थर मारने और ग्रेनेड फेंकने के लिए पैसों का लालच दिया जा रहा है। सरकारी सूत्रोंं का कहना है कि अगर पाकिस्तान की ओर से दिया जा रहा पैसा नहीं रोका गया तो कश्मीर में अशांति का यह दौर जल्द खत्म होने वाला नहीं है।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>