कारगिल विजय दिवस: PM मोदी ने शहीदों को किया याद, रक्षा मंत्री पहुंचे अमर जवान ज्योति

Jul 26, 2016

आज का दिन भारतीय इतिहास के महत्वपूर्ण है. आज ही के दिन 26 जुलाई 1999 को पाकिस्तान के मंसूबों को नाकाम करते हुए भारतीय सपूतों ने टाइगर हिल पर तिरंगा फहराया था.

देश मंगलवार को 17वां कारगिल विजय दिवस मना रहा है. आज का दिन भारतीय इतिहास के महत्वपूर्ण है. आज ही कि दिन 26 जुलाई 1999 को पाकिस्तान के मंसूबों को नाकाम करते हुए भारतीय सपूतों ने टाइगर हिल पर तिरंगा फहराया था. आज पूरा देश उन वीर सपूतों को याद कर रहा है.

भारत और पाकिस्तान के बीच करगिल युद्ध मई-जुलाई 1999 के दौरान हुआ था. 1971 के युद्ध के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच हुए इस सबसे भीषण सैन्य संघर्ष के आज 17 साल पूरे हो रहे हैं. यह युद्ध उस समय शुरू हुआ था जब पाकिस्तानी सैनिकों ने भारत की ओर नियंत्रण रेखा पार कर करगिल सेक्टर में प्रमुख ठिकानों पर कब्जा कर लिया था. इस युद्ध का औपचारिक अंत 26 जुलाई 1999 को हुआ था.

वीर सपूतों के जाबांजी को सलाम करने के लिए देश भर में आज विभिन्न स्थानों पर कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं. देश के लिए कुर्बान होने वाले सैनिकों की याद में जंतर-मंतर पर शहीद स्मृति यज्ञ का आयोजन किया गया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के लिए अपने प्राण न्योच्छावर करने वाले सैनिकों को नमन करते हुए आज कहा कि वर्ष 1999 में राजग सरकार की ओर से दिखाई गई दृढ़ता ने करगिल में एक निर्णायक जीत सुनिश्चित की थी.

करगिल विजय दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने कई ट्वीट करते हुए कहा, ‘हम वर्ष 1999 में भारत के राजनीतिक नेतृत्व की ओर से दिखाई गई उस दृढ़ता को गर्व के साथ याद करते हैं, जिसके कारण करगिल में एक निर्णायक जीत सुनिश्चित हो सकी.’

उन्होंने ट्वीट किया, ‘हमारे साहसी सैनिकों ने जिस निर्भीकता के साथ घुसपैठियों को मुंहतोड़ और अविस्मरणीय जवाब दिया, उसे भारत कभी नहीं भुलाएगा.’मोदी ने कहा, ‘करगिल विजय दिवस के अवसर पर मैं हर उस साहसी सैनिक को नमन करता हूं, जो अपनी आखिरी सांस तक भारत के लिए लड़ा. उनके बलिदान हमें प्रेरित करते हैं.’

On Kargil Vijay Diwas I bow to every valiant soldier who fought for India till the very last breath. Their heroic sacrifices inspire us.

— Narendra Modi (@narendramodi)

रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने अमर जवान ज्योति पहुंचकर वीर शहीदों को याद किया और उन्हें श्रद्धांजलि दी. इस मौके पर आर्मी चीफ जनरल दलबीर सिंह और एयर चीफ मार्शल अरुप राहा ने भी शहीदों का श्रद्धांजलि दी. शाम को सिटीजन फॉर फोर्स संगठन द्वारा जंतर-मंतर से इंडिया गेट तक कैंडल मार्च का आयोजन किया जाएगा.
 

सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह ने 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान अपने प्राणों की आहूति देने वाले जवानों को जम्मू कश्मीर के द्रास क्षेत्र में स्थित युद्ध स्मारक पर सोमवार को श्रद्धा सुमन अर्पित किए.

रक्षा प्रवक्ता ने कहा, ‘जनरल दलबीर सिंह ने आज द्रास में ऐतिहासिक युद्ध स्मारक पर आपरेशन विजय के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की.’

उन्होंने कहा कि सेना प्रमुख के साथ नार्दन कमांडर के जनरल आफिसर कमांडिंग इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल डी.एस. हुड्डा और जनरल आफिसर कमांडिंग आफ लद्दाख स्थित फायर एंड फ्यूरी कोर के लेफ्टिनेंट जनरल एस.के. पटयाल भी थे.

जनरल सिंह ने शहीद जवानों की विधवा पत्नियों और रिश्तेदारों से बातचीत भी की. सेना पाकिस्तान के खिलाफ 17वां कारगिल विजय दिवस मना रही है. सप्ताह भर चलने वाला यह कार्यक्र म कल समाप्त होगा.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>