कन्हैया ने मोदी पर बोला हमला, कहा हमारा सीना 56 इंच का नही हमारी सोच 56 इंच की

Sep 09, 2016
कन्हैया ने मोदी पर बोला हमला, कहा हमारा सीना 56 इंच का नही हमारी सोच 56 इंच की

जेएनयु विवाद से चर्चा में आये कन्हैया कुमार ने कोलकाता में एक कार्यक्रम में बोलते हुए प्रधानमंत्री मोदी पर जबरदस्त हमला बोला है. कन्हैया कुमार ने मोदी के 56 इंच की छाती के बयान पर चुटकी लेते हुए कहा की हमारी छाती तो 56 इंच की नही है लेकिन हमारी सोच जरुर 56 इंच की है.

गुरुवार को कोलकाता में महाजाति सदन के एक कार्यक्रम में बोलते हुए कन्हैया कुमार ने कहा मोदी जी को दलितों की बड़ी चिंता है. वो कहते है की दलितों को मत मारिये उनकी जगह पर मुझे मार लीजिये. अच्छा नाटक कर लेते हो मोदी जी. इन्ही दलितों को जिनकी आपको काफी चिंता है , आपने त्रिलोकपुरी दंगो में मुसलमानों के खिलाफ खड़ा कर दिया.
आरएसएस पर हमला करते हुए कन्हैया कुमार ने कहा की हमारी लडाई देश के खिलाफ नही है. हमारी लडाई आरएसएस के खिलाफ है. यह वो लोग है जो वोट मांगने के लिए राम नाम का सहारा लेते है जबकि पूजा नत्थू राम गोडसे की करते है. इसलिए जब हम आरएसएस के खिलाफ बोलते है तो हमें देश द्रोही करार दे देते है, हमारे खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज हो जाता है.

ये भी पढ़ें :-  मोदी को सत्ता से हटाने का दिवास्वप्न देख रहीं ममता: प्रकाश जावड़ेकर

कश्मीर में पीडीपी-बीजेपी गठबंधन पर कटाक्ष करते हुए कन्हैया ने कहा की अपने आप को सबसे बड़ी राष्ट्रवादी कहने वाली पार्टी बीजेपी ने कश्मीर में उस पार्टी के साथ गठबंधन किया है जो अफजल गुरु को अपना आदर्श मानते है. केंद्र में बीजेपी सरकार आने के बाद राष्ट्रवादी बनने के लिए केवल आपको भारत-पाकिस्तान मैच में तिरंगा लेकर निकलना होगा. इतने में आप राष्ट्रवादी बन जायेंगे.

गौरतलब है की जेएनयु अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर जेएनयु में देशविरोधी नारे लगाने पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज है. फ़िलहाल कन्हैया कुमार जमानत पर बाहर है. कन्हैया कुमार को अदालत ने इस शर्त पर जमानत दी थी की वो आगे ऐसा कोई बयान नही देंगे जिससे देश को शर्मशार होना पड़े.

ये भी पढ़ें :-  एक बार फिर उत्तर प्रदेश की एक महिला ने दिया तीन बच्चों को जन्म, तीनों स्वस्थ हैं

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>