आत्मघाती बम धमाके से दहला काबुल, 33 की मौत, 70 से अधिक घायल, मोदी ने जताया दुःख

Jan 11, 2017
आत्मघाती बम धमाके से दहला काबुल, 33 की मौत, 70 से अधिक घायल, मोदी ने जताया दुःख

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में मंगलवार को संसद भवन के पास हुए दो आत्मघाती बम विस्फोटों में कम से कम 33 लोग मारे गए और 70 से अधिक घायल हो गए। बम विस्फोट उस वक़्त हुआ जब संसद परिसर से लोग काम ख़त्म करके परिसर से बाहर निकल रहे थे। धमाके के कुछ देर बाद ही तालिबान ने हमले की जिम्मेदारी ली। वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी सलीम रासौली ने कहा कि मिनी बस में ज्यादातर संसद के स्टाफ थे। कार बम विस्फोट में वहां तैनात कुछ सुरक्षागार्ड मारे गए। दोनों विस्फोटों में कम से कम 33 लोगों की मौत हुई और 70 से अधिक लोग घायल हुए हैं जिनमें कुछ की स्थिति गंभीर है। आत्मघाती बम विस्फोट संसद भवन के निकट दारुल अमन सड़क पर एक मिनी बस पर हुआ। आत्मघाती हमलावर ने बस में घुस कर स्वयं को उड़ा लिया।

ये भी पढ़ें :-  पाकिस्तान में विस्फोट, लगभग इतने लोगों की मौत की आशंका

राष्ट्रपति अशरफ गनी ने विस्फोट की घटनाओं की कड़ी निंदा की है और कहा है कि दोषियों को किसी भी कीमत पर छोड़ा नहीं जाएगा। उल्लेखनीय है कि तालिबान पश्चिम समर्थित सरकार और विदेशी सैनिकों को अफगानिस्तान से हटाने के लिए लंबे समय से लड़ाई लड़ रहा है। उन्होंने कहा, “तालिबान बेशर्मी से मासूम लोगों की हत्या की जिम्मेदारी लेते हैं।

इस आत्मघाती हमले की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी घटना में मारे गये लोगों पर ट्वीट करके शोक जताया है। काबुल में हुये आतंकवादी हमले की निंदा करता हूं। और हमले में मारे गए निर्दोष लोगों की मौत पर शोक व्यक्त कर रहा हूं। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत हमेशा अफगानिस्तान के साथ है।

ये भी पढ़ें :-  आईएस ने मोसुल में ऐतिहासिक अल-नूरी मस्जिद को ध्वस्त किया
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>