कश्मीर: तीन जिलों में आंशिक से लेकर पूर्ण बंद

Aug 06, 2016

कश्मीर घाटी में सुरक्षा बलों के साथ संघर्षं में प्रदर्शनकारियों के मारे जाने पर एकजुटता व्यक्त करने के लिए शुक्रवार को चेनाब घाटी के किश्तवाड़, डोडा और रामबन के तीन जिलों में आंशिक से लेकर पूर्ण बंद देखने को मिला है.

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि भद्रवाह, बनिहाल और ठठरी शहरों सहित किश्तवाड़ और डोडा में बंद का असर था.
अशांति को देखते हुये एहतियाती उपाय के तौर पर एक महीना से भी कम समय के भीतर जम्मू क्षेत्र में शुक्रवार को दूसरी बार मोबाइल इंटरनेट सेवा निलंबित कर दी गई.  जम्मू के संभागीय आयुक्त पवन कोतवाल ने बताया, ‘‘ एहतियाती उपाय के तौर पर जम्मू क्षेत्र में कुछ दिनों के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवा ठप्प रखी गई है. ’’ अधिकारियों ने जम्मू संभाग के सभी 10 जिलों में सेवा बंद रखने का निर्णय किया है.

कश्मीर घाटी में सुरक्षा बलों के साथ संघर्षं के दौरान युवक के हत्या को लेकर बृहस्पतिवार शाम कुछ शहरों में भारत विरोधी नारे लगाने वाले कुछ प्रदर्शनकारियों को भी गिरफ्तार किया गया.  डोडा में मरकजी सीरत कमेटी डोडा और मस्जिद कमेटी ठठरी ने बंद का आह्वान किया.  डोडा और ठठरी में दुकानें और अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठानें बहुतायत में बंद रहे.  बहरहाल, सरकारी कार्यालय खुले रहे और सड़कों पर यातायात सामान्य रहा.  डोडा और किश्तवाड़ में बृहस्पतिवार को विरोध रैलियां निकाली गयीं जिनमें प्र्दशनकारियों ने राज्य और केन्द्र से बिना विलंब किए हुए सभी पक्षों के साथ बातचीत करने करने की मांग की गयी.

 

नेशनल कांफ्रेंस के एक वरिष्ठ नेता और पूर्व गृह मंत्री खालिद नजीब सहरवर्दी ने बताया, ‘‘ कश्मीर भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय मुद्दा नहीं है.  जब तक कश्मीरी लोगों को इसमें शामिल नहीं किया जाता तब तक किसी बातचीत का कोई मतलब नहीं है. ’’ सहरवर्दी ने बताया, ‘‘ अगर सरकार कश्मीर मुद्दा सुलझाने के प्रति वास्तव में गंभीर है तब उसे तत्काल हुर्रियत कांफ्रेंस के साथ बातचीत शुरू करनी चाहिए. ’’ चेनाब घाटी के शहरों में पुलिस और अर्धसैनिक बलों को पर्याप्त संख्या में तैनात किया गया है.
घाटी में कर्फ्यू का दायरा बढ़ाया गया : श्रीनगर.  जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में अलगाववादियों के‘दरगाह चलो’ कार्यक्रम के मद्देनजर  कर्फ्यू का दायरा बढ़ाकर इसे पूरी राजधानी में लागू कर दिया गया.  आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि अलगाववादी संगठनों के‘दरगाह चलों’अभियान के मद्देनजर ¨हसा की किसी भी घटना से बचने के लि, पूरे श्रीनगर में कर्फ्यू लगा दिया गया.

कर्फ्यू के कारण सुबह सैर करने वालों लोगों को भी परेशानी का सामना करना पड़ा.  शहर के रिहाइशी इलाकों में लोगों को खास कर  कठिनाइयों का सामना करना पड़ा क्योकि तड़के कर्फ्यू की घोषणा हुई और घर से बाहर निकलने वाले लोगों को सुरक्षाबल घर के अंदर वापस भेजने लगे.  रामबाग में श्रीनगर-हवाई अड्डे रोड पर पुलिस के वाहन से बार -बार घोषणा हो रही थी कि लोग घरों के अंदर ही रहे.  ऐसी ही घोषणाएं  नातिपोरा, चानापोरा और दूसरे रिहाइशी इलाकों में भी हुयी जहां सुरक्षा बलों ने चरार-ए-शरीफ रोड को नातपोरा चौराहे के पास कंटीले तार लगाये गए.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>