पेरिस समझौते में शामिल होकर भारत, अमेरिका ने प्रतिबद्धता दोहराई

Jun 08, 2016

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इस साल हुए पेरिस जलवायु परिवर्तन समझौते में खुद को शामिल करने की प्रतिबद्धता जताई.

जिससे एतिहासिक करार को लागू किये जाने की दिशा में महत्वपूर्ण अंतरराष्ट्रीय गति मिलेगी.

व्हाइट हाउस ने कहा, ‘‘अमेरिका इस साल जल्द से जल्द समझौते में शामिल होने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराता है. भारत ने भी इसी तरह इस साझा उद्देश्य की दिशा में काम करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है.’’ व्हाइट हाउस ने कहा कि अमेरिका और भारत जलवायु परिवर्तन के खिलाफ लड़ाई में जलवायु और स्वच्छ उर्जा के समान हित साझा करते हैं और करीबी साझेदार हैं.

ये भी पढ़ें :-  अमेरिका की परवाह न करते हुए उत्तरी कोरिया ने फिर किया बैलेस्टिक मिसाइल का परीक्षण

बयान के अनुसार दोनों देशों के नेतृत्व ने जलवायु परिवर्तन की अंतरराष्ट्रीय कार्रवाई को प्रेरित करने में मदद की है और इसके नतीजतन पिछले साल दिसंबर में ऐतिहासिक पेरिस समझौते को अंतिम रूप दिया गया.

 

व्हाइट हाउस ने ओबामा और मोदी की ओवल ऑफिस मुलाकात के बाद कहा, ‘‘दोनों देश जलवायु परिवर्तन के तात्कालिक खतरों पर ध्यान देने के लिए पेरिस समझौते के पूरी तरह क्रियान्वयन को बढ़ावा देने के लिहाज से मिलकर काम करने और अन्य देशों के साथ काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.’’

प्रधानमंत्री फिलहाल राष्ट्रपति ओबामा के निमंत्रण पर तीन दिवसीय अमेरिका यात्रा पर हैं.

ये भी पढ़ें :-  सऊदी अरब, अमेरिका के बीच व्यापार समझौतों पर बनी सहमति

दोनों नेताओं के बीच वार्ता का एक प्रमुख विषय जलवायु परिवर्तन रहा.

मुलाकात में ओबामा और मोदी ने 2020 से पहले की अवधि में कम ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन की विकास रणनीतियों का अनुसरण करने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराई.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>