JNU छात्र संघ अध्यक्ष को 9 फरवरी के कार्यक्रम की पहले से थी जानकारी : जेएनयू रजिस्ट्रार

Mar 07, 2016

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में संसद हमले के दोषी आतंकी अफजल गुरु की याद में कार्यक्रम करने को लेकर नया खुलासा हुआ है.

जेएनयू विवाद के बीच यूनिवर्सिटी प्रशासन की एक अहम पत्र में कहा गया है कि छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार को 9 फरवरी को हुए कार्यक्रम की जानकारी पहले से थी. जेएनयू के रजिस्ट्रार भूपिंदर जुप्शी का कहना है कि पहले कार्यक्रम की अनुमति रद्द की जा रही है, जिसका कन्हैया कुमार ने विरोध किया था.

जेएनयू में देशविरोधी नारे लगने के बाद कन्हैया पर देशद्रोह का केस लगाया गया है. फिलहाल उसे जमानत मिली है.

जुत्शी ने कुलपति एम जगदीश कुमार द्वारा गठित उच्च अधिकार प्राप्त जांच समिति के सामने यह बयान दिया है. जुत्शी ने कहा है कि कन्हैया कुमार नौ फरवरी के कार्यक्रम की इजाजत को रद्द करने के अधिकारियों के फैसले के खिलाफ था.

इससे पहले कन्हैया कुमार ने कहा था कि उन्हें इस कार्यक्रम के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. जेएनयू के रजिस्ट्रार भुपिंदर जुत्शी ने जेएनयू मामले की जांच कर रही कमेटी को पत्र लिखकर 9 फरवरी के कार्यक्रम की जानकारी दी है. यह पत्र 3 मार्च को लिखी गई है जिसके मुताबिक कन्हैया ने रजिस्ट्रार को फोन कर न सिर्फ कार्यक्रम रद्द करने पर ऐतराज जताया था बल्कि सवाल भी पूछे थे.

जुत्शी ने अपने कार्यालय में नौ फरवरी को दोपहर तीन बजे जेएनएसयू की बैठक बुलाई थी ताकि अशक्त छात्रों के लिए नई बस के मार्ग पर चर्चा हो सके. उस दौरान कन्हैया कुमार और रमा नागा के साथ ही सौरभ शर्मा भी मौजूद थे.

शर्मा ने बाद में मुझे अफजल गुरु की ‘न्यायिक हत्या’ पर एक ‘सांस्कृतिक कार्यक्रम’ का पर्चा दिखाया और कहा कि कुछ छात्र नौ फरवरी शाम पांच बजे साबरमती ढाबा में इस कार्यक्रम का आयोजन कर रहे हैं.

रजिस्ट्रार ने कहा कि जब विश्वविद्यालय ने इजाजत वापस लेने का फैसला किया तो कन्हैया ने इसे रद्द करने पर ऐतराज जताया था.

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>