#JNU : पैनल ने जांच में उमर, अनिर्बान को छात्रों के बीच नफरत फैलाने का ‘दोषी’ पाया

Mar 16, 2016

जेएनयू के उच्च स्तरीय जांच पैनल ने दो छात्रों उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य को वैमनस्यता, जातिगत या क्षेत्रीय भावनाएं भड़काने या छात्रों के बीच कटुता फैलाने का ‘दोषी’ पाया है.

उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य देशद्रोह के मामले में अभी न्यायिक हिरासत में जेल में बंद हैं.

उप महानिरीक्षक (कारागार) तिहाड़ जेल के जरिए अनिर्बान और उमर को भेजे गए कारण बताओ नोटिस में विश्वविद्यालय ने उन्हें चार आरोपों के तहत ‘दोषी’ माना है.

जिन आरोपों के तहत अनिर्बान को दोषी माना गया है उस भेजे गए कारण बताओ नोटिस में जिक्र है, ‘‘विश्वविद्यालय को गलत सूचना देना. सांप्रदायिक, जाति या क्षेत्रीय भावनाओं को भड़काना या छात्रों के बीच कटुता बढ़ाना.’’

अनिर्बान को भेजे नोटिस में कैंपस में किसी व्यक्ति का अनाधिकार प्रवेश या विश्वविद्यालय परिसर के किसी हिस्से पर कब्जा करना अथवा उसमें सहयोग करना का भी उल्लेख है.

उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया कि उमर के खिलाफ भी वही आरोप लगाए गए हैं.

पांच सदस्यीय कमेटी ने विश्वविद्यालय के नियमों और अनुशासनात्मक नियमों के उल्लंघन का ‘दोषी’ पाए जाने पर अनिर्बान और उमर समेत 21 छात्रों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है.

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>