तो आज अम्‍मा की वजह से बढ़ा अमेरिकी राजनीति में हिलेरी का कद!

Aug 03, 2016

चेन्‍नई। आपने सुना होगा अक्‍सर एक कामयाब पुरुष के पीछे एक महिला का हाथ होता है लेकिन अगर एआईएडीएमके विधायक की बात पर अगर यकीन करें तो आज एक कामयाब महिला के पीछे अम्‍मा यानी जयललिता का ही हाथ है। यह कामयाब म‍हिला और कोई नहीं बल्कि अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनावों में पहली महिला उम्‍मीदवार हिलेरी क्लिंटन हैं और विधायक जी का मानना है कि हिलेरी की सफलता के लिए जयललिता ही असली जिम्‍मेदार हैं।

जयललिता और हिलेरी की मुलाकात

एआईएडीएमके के एक विधायक ए रामू की मानें तो आज अगर हिलेरी क्लिंटन राष्‍ट्रपति पद की दौड़ में हैं तो उसकी वजह कोई और नहीं बल्कि अम्‍मा यानी जयललिता हैं। रामू तमिलनाडु के कुन्‍नूर से विधायक हैं। मंगलवार को रामू ने

तमिलनाडु की विधानसभा को बताया कि जब हिलेरी क्लिंटन ने वर्ष 2011 में पहली बार जयललिता से मुलाकात की थी तो अम्‍मा ने हिलेरी को अपनी इंग्लिश से काफी प्रभावित किया था।

अम्‍मा की वजह से हिलेरी का नामांकन

इसके बाद हिलेरी अमेरिका लौट गईं और आज हिलेरी राष्‍ट्रपति पद की पहली महिला उम्‍मीदवार बन गई हैं। रामू के मुताबिक वह इसका श्रेय ‘आदरणीय अम्‍मा’ को देना चाहते हैं। जुलाई 2011 में हिलेरी और जयललिता की पहली मुलाकात हुई थी।

उस समय जयललिता ने मुख्‍यमंत्री पद संभाला था और हिलेरी अमेरिका की विदेश मंत्री थीं। रामू ने यह बातें उस समय कहीं जब सदन में जंगलों के लिए अनुदान, जेल और कानून और अदालतों पर बहस हो रही थी।

अम्‍मा ने लिखा खत

हिलेरी के साथ अपनी मुलाकात के बाद संबंधों में आई करीबी को और मजबूत बनाने के मकसद से जयललिता ने 17 जून को एक खत हिलेरी को लिखा था। इस खत में जयललिता ने लिखा, ‘डेमोक्रेटिक पार्टी का उम्‍मीदवार बनने पर मेरी ओर से बधाई स्‍वीकार करें। यह पूरी दुनिया में महिलाओं के लिए गौरव और संतोष का पल है।’

खत में आगे लिखा गया है, ‘खासतौर पर लोकतांत्रित चुनाव व्‍यवस्‍था से जुड़ी महिलाओ के लिए आपका राष्‍ट्रपति पद का उम्‍मीदवार बनना वाकई एक अद्भुत मौका होगा। इतिहास बनाने के अलावा आपने दुनियाभर की महिलाओं के सशक्‍तीकरण से जुड़े कामों को एक नई उम्‍मीद दी है।’

हिलेरी रचेंगी जयललिता जैसा इतिहास

तमिलनाडु की मुख्‍यमंत्री जयललिता ने वर्ष 2011 में राज्‍य के मुख्‍यमंत्री पद की शपथ लेकर एक नया इतिहास रचा था। इसके बाद उन्‍होंने फिर मई 2016 में दोबारा मुख्‍यमंत्री पद की शपथ लेकर एक और इतिहास रचा।

वहीं तमिलनाडु से हजारो मील दूर अमेरिका में भी डेमोक्रेटिक पार्टी की हिलेरी क्लिंटन एक इतिहास रच चुकी हैं और नवंबर में हो सकता है राष्‍ट्रपति बनकर वह एक नया अध्‍याय अमेरिका की राजनीति में जोड़ दें।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>