जाट नेता पहुंचे सुप्रीम कोर्ट

Jun 02, 2016

हरियाणा के जाटों को पिछड़ा वर्ग के तहत दिए गए आरक्षण पर पंजाब अर हरियाणा हाई कोर्ट द्वारा लगाई गई रोक का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है.

अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के अध्यक्ष हवा सिंह सांगवान ने हाई कोर्ट के अंतरिम आदेश के खिलाफ शीर्ष अदालत का दरवाजा खटखटाया है.

याचिकाकर्ता ने जल्द सुनवाई की मांग की है, साथ ही उन्होंने हाई कोर्ट के अंतरिम आदेश को निरस्त करने की भी मांग की है.

याचिकाकर्ता का कहना है कि हाई कोर्ट ने बिना हरियाणा सरकार का पक्ष सुने ही आदेश दे दिया. ऐसे में जब तक मामले की सुनवाई लंबित है तब तक अंतरिम रोक को हटाया जाना चाहिए. आरक्षण की मांग को लेकर जाटों द्वारा हरियाणा में प्रदर्शन, तोड़फोड़, आगजनी, धरना एवं बंद की घटना हुई थी.

ये भी पढ़ें :-  लालू के बेटे तेजस्वी यादव पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज, राष्ट्रगीत वंदे मातरम् के अपमान का आरोप

 

जिसके बाद जाटों को पिछड़ा वर्ग के तहत आरक्षण प्रदान किया गया था. हरियाणा सरकार की आरक्षण की नीति को एक जनहित याचिका के माध्यम से पंजाब अर हरियाणा हाई कोर्ट के समक्ष चुनौती दी गई थी.

हाई कोर्ट ने याचिका पर सुनवाई करते हुए पिछले दिनों जाट को आरक्षण देने के सरकार के फैसले पर रोक लगा दी थी.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>