इस वर्ष 19-20 लाख करोड़ रुपये का कर जुटाने का लक्ष्य : जेटली

Apr 30, 2017
इस वर्ष 19-20 लाख करोड़ रुपये का कर जुटाने का लक्ष्य : जेटली

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शनिवार को कहा कि सरकार को 2017-18 में प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष करों से 19 से 20 लाख करोड़ रुपये इकट्ठा होने की उम्मीद है, जिसे कर अनुपालन में सुधार कर और बढ़ाया जा सकता है। सरकार ने 2016-17 में कुल 17.10 करोड़ रुपये कर के जरिए जुटाए, जो पिछले छह वर्षो में सर्वाधिक है।

प्रवर्तन दिवस समारोह में जेटली ने कहा, “इस वर्ष हमारा लक्ष्य प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष करों के जरिए 19 से 20 लाख करोड़ रुपये जुटाने का है।”

जेटली ने साथ ही यह भी कहा कि विशेषज्ञों का मानना है कि अगर भारत को कर अनुपालन समाज बनाया जाए तो इसमें और वृद्धि हो सकती है।

जेटली ने कहा, “कर न चुकाने के कारण जनहित एवं देशहित को भारी क्षति पहुंचती है।”

प्रवर्तन निदेशालय से कर न चुकाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आग्रह करते हुए जेटली ने कहा कि सरकारी एजेंसी को उदाहरण पेश करना चाहिए ताकि लोगों को स्वत: कर चुकाने का लाभ समझ में आए।

जेटली ने कहा, “मुझे उम्मीद है कि आने वाले समय में प्रवर्तन निदेशालय उचित राजस्व हासिल करने के लिए कानून का सख्ती से पालन करवाएगा, जो जनहित में भी है और जिसे लोगों को स्वत: कर चुकाने के लिए जागरूक कर हासिल किया जा सकता है।”

जेटली ने कहा कि स्वत: कर चुकाने की प्रवृत्ति में इजाफा करने के लिए प्रवर्तन निदेशालय को दंडित करने की अपनी शक्तियों का तेजी से इस्तेमाल करना चाहिए।

जेटली ने कहा कि परिणाम का भय कर अनुपालन को सुनिश्चित कर सकता है।

उन्होंने कहा, “हमारा लक्ष्य भारत को कर न चुकाने वाले देश से कर अनुपालन वाला देश बनाना है, क्योंकि भारत विकासशील देश से विकसित देश बनने की ओर अग्रसर है। कानून का भय और परिणाम का भय कर अनुपालन को सुनिश्चित कर सकता है।”

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>