अगले आने वाले 25 सालो में इस्राईल का वजूद नहीं रहेगा: सय्यद अली ख़ामेनई

Dec 15, 2016
अगले आने वाले 25 सालो में इस्राईल का वजूद नहीं रहेगा: सय्यद अली ख़ामेनई

फ़िलिस्तीन के इस्लामी जेहाद आंदोलन के महासचिव रमज़ान अब्दुल्लाह शलह ने वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़्मा सय्यद अली ख़ामेनई से तेहरान में हुयी मुलाक़ात में ख़ामेनई ने कहा कि अगले 25 साल में ज़ायोनी शासन का वजूद नहीं रहेगा। उन्होंने जोर दिया और कहा कि फ़िलिस्तीन के मसलो को भुलाने के लिए ज़ायोनी की तरफ से समर्थक लगातार खतरा पैदा कर रहे है। लेकिन इसके बावजूद यह पाक जमीन फ़िलिस्तीनी गुटों व राष्ट्र के रुकावटो के नतीजे से आज़ाद होकर रहेगी। अली ख़ामेनई ने जोर देकर कहा कि पाक क़ुद्स की आजादी का सिर्फ़ एक ही रास्ता है वो रुकावट और कोशिश है। इसके अलावा किसी भी दूसरे रास्ते का कोई नतीजा नहीं निकलेगा।

उन्होंने इस्लामी जेहाद आंदोलन की ओर से ज़ायोनियों के मुक़ाबले में एकजुटा व रुकावट के लिए 10 सूत्रीय योजना पर ख़ुशी ज़ाहिर करते हुए, कोशिश जारी रखने, मिलजुल के समझौतों को पूरी तरह खत्म करने, फ़िलिस्तीनी गुटों के बीच एकता पर आग्रह और दुश्मन के साथ मिलजुल के लिए कुछ रूढ़ीवादी सरकारों की कोशिशों की निंदा को इस योजना के महत्वपूर्ण बिन्दु बताए। आयतुल्लाहिल उज़्मा ख़ामेनई ने कहा कि क्षेत्र का सबसे अहम मुद्दा दाइश, नुस्रा फ़्रंट सहित दूसरे आतंकवादी गुटों से सामूहिक रूप से निपटना है, क्योंकि अगर ऐसा न हुआ तो तकफ़ीरियों की ओर से हमेशा खतरा पैदा होने की वजह से फ़िलिस्तीन का मुद्दा हाशिये पर चला जाएगा। उन्होंने कहा कि तकफ़ीरियों की घुसपैठ से पूरी तरह निपटने के लिए तैयार रहना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि मुझे बहुत अफ़सोस है कि कुछ अरब सरकारें फ़िलिस्तीन के मुद्दे से पीछे हट गयी हैं। और उनमें ज़ायोनी शासन से हाथ मिलाने के लिए प्रतिस्पर्धा शुरु हो गयी है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>