ज़िद्दी इस्लामिक बादशाह ओरंगजेब भी इस शिवलिंग के आगे हाथ खड़े कर दिये थे

Jun 09, 2016

कट्टरपंथी इस्लामिक बादशाह ओरंगजेब ने भी इस शिवलिंग के आगे हाथ खड़े कर दिया थे, और रातो रात मंदिर को उखड फेंकने का इरादा बदल कर वंहा मुंह छिपा के निकल गया था. ये घटना है कानपूर के बनीपाड़ा गांव की जन्हा के शिवलिंग को सतयुग का बताया जाता है.

सतयुग में एक राजा था नाम था बाणेश्वरम्, वो शिव भक्त था और उसने महादेव की तपस्या कर उन्हें प्रकट किया, वरदान में उसने शिव को ही महल में रहने को कहा. इस पर शिव ने उन्हें अपना ही रूप कह कर शिव लिंग दिया जिसे जन्हा रखा जाए वंही स्थापित हो जायेगा कर के सौंप दिया. अब रस्ते में उन्हें मूत्रविसर्जन करना था पर शिवलिंग को हाथ में लेके कैसे तो शिव के सम्मान को बचने के लिए उन्होंने उसे रखा और फिर उसे उठा न पाये.

ये भी पढ़ें :-  ओवैसी का सराहनिये क़दम, बिहार बाढ पिडितों के लिये भेजी डॉक्टरों की टीम और दवाऐं

तब से वो इसी गांव में स्थापित है और आज भी राज घराने की राजकुमारी सबसे पहले इसकी पूजा करती है बाद में बाकि सब लोग. मंदिर को यंहा से हटाने की कोशिश ओरंगजेब ने की और शिवलिंग के चारो और खुदाई शुरू की पर शिवलिंग की गहराई तो स्वयं विष्णु भगवन न धुंध पाये थे तो इन कट्टपंथियो की क्या बिसात थी.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>