दलित कार्रवाई करवाने के लिए अपना रहे इस्लाम तो ठाकुर समाज कार्रवाई से बचने के लिए इस्लाम धर्म अपनाने की दे रहे धमकी

May 24, 2017
दलित कार्रवाई करवाने के लिए अपना रहे इस्लाम तो ठाकुर समाज कार्रवाई से बचने के लिए इस्लाम धर्म अपनाने की दे रहे धमकी

अलीगढ़ जनपद के केशोपुर झोपड़ी गांव के हजारों दलितों ने हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरों को नाले में बहाकर इस्लाम धर्म अपनाने के ऐलान के बाद ठाकुर समाज भी इसी तर्ज पर चल पड़ा हैं। सोमवार को ज्यादा संख्या में ठाकुर समाज के लोग पहले बरौली विधानसभा से विधायक ठाकुर दलवीर सिंह के पास गए और अपनी आप बीती सुनाई। उसके बाद सभी लोग एसएसपी दफ्तर गए। वह पहुँच कर कहा कि अगर धर्म परिवर्तन से फायदा मिलता है, तो वह भी खुद को इंसाफ के लिए धर्म परिवर्तन करने को तैयार हैं। उनका कहना था कि दलितों के दबाव में उन पर कोई गलत कार्रवाई न की जाए।

ये भी पढ़ें :-  PM मोदी की सुरक्षा की ड्यूटी में लगाए गए SI की सड़क हादसे में मौत..

गत 16 मई को गांव में एक नाली बनाने को लेकर सवर्ण व दलित आमने-सामने आ गए थे। इस दौरान दोनों पक्षों की ओर से तोड़फोड़ पथराव के बाद फायरिंग की गयी थी। इस मामले में रविवार को दलित समुदाय ने इस्लाम धर्म अपनाने की धमकी दी थी। इस धमकी से ठाकुर समाज सकते में आ गया था। इसको लेकर सोमवार को सवर्ण लोग पहले विधायक ठा.दलवीर सिंह और फिर एसएसपी दफ्तर पहुंचकर एसपी देहात यशवीर सिंह से मिले। और अपने पक्ष के घायलों का बेहतर इलाज न होने का भी आरोप लगाया। इस पर उन्हें मदद का भरोसा दिलाया गया। वही ठाकुर समाज ने दलितों पर यह भी आरोप लगाया कि हमारे पढ़े लिखे और नौकरी पर तैनात युवकों को झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दे रहे हैं।

ये भी पढ़ें :-  पिता के बाद 14 साल के बेटे ने भी की ख़ुदकुशी, फीस के लिए टीचर करते थे परेशान

इस पर एसपी देहात ने तुरंत एसओ लोधा से फोन पर बात की तो पता चला कि दलितों पर दर्ज मुकदमे में हड्डी तोड़ने की धाराएं बढ़ाई गई हैं। घायलों का जेल में इलाज कराया जा रहा है। एसपी देहात के अनुसार मामले में न्याय के आधार पर कार्रवाई का भरोसा दिलाया गया है।

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>