इस्लाम धर्म में मूल हिस्सा नहीं है ट्रिपल तलाक- सुप्रीम कोर्ट

May 17, 2017
इस्लाम धर्म में मूल हिस्सा नहीं है ट्रिपल तलाक- सुप्रीम कोर्ट

मुस्लिम धर्म के ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान भारत सरकार ने कहा कि ‘ ट्रिपल तलाक इस्लाम का मूल हिस्सा नहीं है।’ SC द्वारा मुस्लिम धर्म के ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर भारत सरकार की ओर से पक्ष मांगे जाने के बाद भारत सरकार ने अपनी बात कोर्ट में रखी। सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार की ओर से कहा गया कि ट्रिपक तलाक मुस्लिम समाज में पुरुष वर्सेज महिला का मामला है, जिसमें पढ़ा- लिखा मजबूत पुरुष पक्ष महिला पक्ष पर भारी पड़ता है।

सुप्रीम कोर्ट में सरकार ने एक बात और साफ तरीके से रखी कि ट्रिपल तलाक का मामला मेजॉरिटी वर्सेज माइनॉरिटी का नहीं है। ये एक समुदाय के महिलाओं के हक का मामला है। सरकार ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट को देश के सेकुलर संविधान के मुताबिक इस मामले की सुनवाई बिल्कुल करनी चाहिए।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>