ईरान ने फिर किये लंबी दूरी की कद्र-एच और कद्र-एफ मिसाइलों का परीक्षण, इस्राइल भी जद में

Mar 09, 2016

ईरान ने अमेरिकी की चेतावनी को धता बताते हुए बुधवार को कहा कि उसके सशस्त्र बलों ने दो और बैलिस्टिक मिसाइल दागी.

सरकारी मीडिया ने रेवोलुशनरी गार्डस के उप प्रमुख जनरल हुसैन सलमानी के हवाले से कहा, ”लंबी दूरी की कद्र-एच और कद्र-एफ मिसाइलों को आज दागा गया जिन्होंने लक्ष्यों को तबाह किया.” करीब 1,400 किलोमीटर दूर यह लक्ष्य भेदा गया.

सरकारी टीवी ने उत्तरी ईरान के अलबोर्ज़ पर्वत के एक स्थल से दो मिसाइलों को छोड़ने का वीडिया प्रसारित किया.

इस्लामिक गणराज्य ने मंगलवार को भी कई बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया था. उसने अमेरिकी पाबंदियों की अवज्ञा की है जो इस साल के शुरू में लगाई गई थीं जिनका मकसद ईरान के मिसाइल कार्यक्रम को रोकना था.

मिसाइल पाबंदियां ईरान पर से परमाणु संबंधित प्रतिबंध हटाने एक दिन लगाई गईं थीं.

अमेरिका के विदेश विभाग के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने मंगलवार को कहा था कि वह तेहरान द्वारा कई परीक्षणों की पुष्टि नहीं कर सके थे, लेकिन उन्होंने चेताया था कि इसकी प्रतिक्रिया में वाशिंगटन एकपक्षीय या अंतरराष्ट्रीय कार्रवाई कर सकता है.

रेवोलुशनरी गार्डस के अंतरिक्ष विंग के प्रमुख जनरल आमिर अली हाजीज़देह ने आज कहा कि हमारे दुश्मन जितने प्रतिबंध बढ़ाएंगे, रेवोलुशनरी गार्डस की प्रतिक्रिया उतनी तेज होगी.

हाजीज़देह कहा कि कल हमने देखा कि मिसाइलें प्लेटफार्म से दागी गईं थी और आज उन्हें हमारी इस्लामिक भूमि के मध्य से दागा गया.

आईएसएनए समाचार एजेंसी ने हाजीज़देह के हवाले से कहा कि हमारे इतनी दूर तक मार करने वाली (2000 किलोमीटर) मिसाइलों को डिजाइन करने का कारण यह है कि हम अपने दूरस्थ दुश्मन, यहूदी शासन पर प्रहार करने में सक्षम हो सकें. उनका इशारा इस्राइल की ओर था.

सरकारी मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, परीक्षण की गई श्रंखला में कम, मध्यम और लंबी दूरी की सटीक मार करने वाली मिसाइलें शामिल हैं, जिनकी मारक क्षमता 300 किलोमीटर से लेकर, 500 किलोमीटर, 800 किलोमीटर और 2,000 किलोमीटर तक है.
 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>