आतंकवादि ठिकानों पर की गई सर्जिकल स्ट्राइक के बाद घुसपैठ के मामले घटे: राजनाथ

Jun 01, 2017
आतंकवादि ठिकानों पर की गई सर्जिकल स्ट्राइक के बाद घुसपैठ के मामले घटे: राजनाथ

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिह ने गुरुवार को कहा कि 2016 में सेना द्वारा नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पार आतंकवादियों के ठिकानों पर की गई सर्जिकल स्ट्राइक के बाद घुसपैठ के मामले घटे हैं। राजनाथ ने सीमा सुरक्षाबल (बीएसएफ) के एक कार्यक्रम में कहा, “सर्जिकल स्ट्राइक के बाद घुसपैठ के मामले घटे हैं।”

सेना ने नियंत्रण रेखा के पार आतंकवादी ठिकानों को नष्ट करने के लिए सर्जिकल स्ट्राइक की थी जिसमें कई आतंकवादी मारे गए थे।

बीएसएफ ने कहा कि 2016 में 130 बार घुसपैठ की कोशिश की गई जबकि इस साल अब तक घुसपैठ की 27 कोशिश की गई है।

ये भी पढ़ें :-  उत्तर प्रदेश के CM योगी की तस्वीर से शादी करने वाली 4 महिलाओं पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज़

राजनाथ ने बीएसएफ का सीमा से सटे क्षेत्रों में चौकसी बनाए रखने और हमेशा तत्पर रहने का आह्वान किया।

उन्होंने कहा कि सीमा पर कड़ी निगरानी से जाली नोटों की आवाजाही में भी कमी आएगी।

उन्होंने कहा कि शहीद हुए प्रत्येक जवान के परिवार वालों को मुआवजे के तौर पर एक करोड़ रुपये मिलने चाहिए और अगर ऐसा नहीं हो पा रहा हो तो अर्धसैनिक बलों के सभी महानिदेशक उनसे संपर्क करें।

राजनाथ ने बीएसएफ कर्मियों से कहा कि सोशल मीडिया पर प्रचारित हर चीज पर पर विश्वास नहीं करें।

राजनाथ ने कहा, “सोशल मीडिया का इस्तेमाल अफवाहें फैलाने के लिए किया जा रहा है।”

ये भी पढ़ें :-  यूपी शर्मसार: कैंसर की मरीज के साथ गैंगरेप, राहगीर से मदद मांगी तो उसने भी बनाया अपनी हवस का शिकार

राजनाथ ने कुछ बीएसएफ जवानों के टोपी नहीं पहनने पर कहा, “हर किसी को अपनी पोशाक को लेकर चौकस रहना चाहिए।”

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>