सिंधु का पानी रोकना, गरीबी से लड़ने का ये कौन सा तरीका हुआ: खुर्शीद महमूद

Sep 28, 2016
सिंधु का पानी रोकना, गरीबी से लड़ने का ये कौन सा तरीका हुआ: खुर्शीद महमूद

पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद क़सूरी ने कहा की, भारतीय प्रधानमंत्री ने केरल में भारत और पाक से ग़रीबी से लड़ने की जो अपील की थी। यह बहुत अच्छी बात थी। लेकिन उसके एक-दो दिन बाद ही भारत के तरफ से बयान आता है की सिंधु नदी का पानी भारत बंद कर सकता है। यह ग़रीबी से लड़ने का अच्छा तरीका है कि आप कहें कि हम पानी बंद कर देंगे।

भारत की तरफ से बहुत ही नकारात्मक बयान आ रहे हैं। अभी भी पाकिस्तान के ज़िम्मेदार लोगों ने इस तरह की ज़ुबान का इस्तेमाल नहीं किया है। पाकिस्तान आतंकवाद से सबसे अधिक परेशान है। आतंकवाद से लड़ने के लिए पाकिस्तान ने जर्बे-अज़्म नामक अभियान शुरू किया है।

पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद क़सूरी ने इस्लामाबाद में नवंबर में होने वाले सार्क सम्मेलन में भारत के न आने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। मुझे लगता है कि आतंकवाद के खिलाफ यह दुनिया का सबसे कामयाब अभियान है।

भारत ने कहा कि वह दक्षिण एशियाई देशों के संगठन सार्क के नौ-दस नवंबर को इस्लामाबाद में होने वाले सम्मेलन में शामिल नहीं होगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने एक ट्विट में कहा, क्षेत्रीय सहयोग और चरमपंथ एक साथ नहीं चल सकते, इसलिए भारत इस्लामाबाद सम्मेलन में शामिल नहीं होगा।

पाकिस्तान में 2004 में आयोजित सार्क सम्मेलन में भाग लेने तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी इस्लामाबाद आए थे. सम्मेलन से इधर दोनों देशों की बाचचीत हुई और इस्लामाबाद घोषणापत्र जारी किया गया।
इस आधार पर ही दोनों देशों ने शांति बहाली की प्रक्रिया शुरू की थी. वह आज़ादी के बाद का सबसे महत्वपूर्ण क़दम था. इससे दोनों देश कश्मीर समस्या के समाधान के क़रीब तक पहुंच गए थे।

भारत पाकिस्तान पर चरमपंथियों को भेजने का आरोप लगाता रहता है। लेकिन मुझे हैरत इस बात की है कि भारत ने जिस तरह सीमाएं सील कर रखी हैं, उसके बाद भी लोग वहां पहुंच कैसे जाते हैं।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>