जिस तरह से इंदिरा गाँधी के नसबंदी क़ानून का विरोध हुआ, उसी तरह बीजेपी की समान नागरिक संहिता का भी विरोध किया जाएगा

Oct 16, 2016
जिस तरह से इंदिरा गाँधी के नसबंदी क़ानून का विरोध हुआ, उसी तरह बीजेपी की समान नागरिक संहिता का भी विरोध किया जाएगा

तीन तलाक के विरोध में सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल कर मुस्लिम संगठनों की आलोचनाओं का सामना कर रही मोदी सरकार के खिलाफ दरगाह आला हजरत से सुन्नी सूफी उलेमाओं ने ऐलान किया हैं कि जिस तरह से इंदिरा गाँधी के नसबंदी क़ानून का विरोध किया गया था उसी तर्ज पर अब नरेन्द्र मोदी की समान नागरिक संहिता का भी विरोध किया जाएगा।

अजहरी मियां ने कहा कि ”तीन तलाक तीन ही मानी जाएंगी। इससे जुड़ा हलफनामा दायर किया जाना शरीयत में सीधा हस्तक्षेप होगा, जो कुबूल नहीं किया जाएगा। अजहरी मियां ने आगे कहा कि, तीन बार तलाक बोलने को इस्लाम में कभी अच्छा नहीं माना गया है। इसी धारणा पर शरई अदालत में मुसलमानों के फैसले होते रहे हैं।

ये भी पढ़ें :-  उप्र : गैरइरादतन हत्या का मामला, पिता-पुत्र को दस साल की कैद

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>