भारत पहले हिंदुओं का देश है, बाद में किसी अन्य का : शिवसेना

Oct 30, 2017
भारत पहले हिंदुओं का देश है, बाद में किसी अन्य का : शिवसेना

RSS के प्रमुख मोहन भागवत द्वारा दिए गए बयान पर सियासी जंग शुरू हो गई है। आरएसएस प्रमुख के बयान पर महाराष्ट्र की सरकार में भारतीय जनता पार्टी की साझेदार शिवसेना ने सबसे पहले पलटवार करते हुए कहा कि, भारत सबसे पहले हिन्दुओ का देश है, बाकि अन्यो का बाद में।

बता दें कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत ने इंदौर में शुक्रवार को कहा था कि “‘हिंदुस्तान’ हिंदुओं का देश है, लेकिन इसका ये मतलब नहीं है कि यह ‘दूसरों’ का नहीं है।” लेकिन इस पर शिवसेना प्रमुख ने पलटवार करते हुए कहा कि “भारत सबसे पहले हिन्दुओ का है, बाद में किसी अन्य का, क्योंकि मुसलमानों के 50 से भी ज्यादा देश है। ईसाईयों के पास अमेरिका और यूरोप के देश हैं। बौद्धों के लिए चीन, जापान, श्रीलंका और म्यामांर हैं। हिन्दुओं के पास भारत के अलावा कोई देश नहीं है।”

ये भी पढ़ें :-  मेरठ में मुस्लिम पार्षद ने अपने घर की पालतू गाय थाने में बांधी, बोले- "परिवार की जान को है खतरा"

शिवसेना ने राम मंदिर और कश्मीर विस्थापितों पर मोदी सरकार को घेरते हुए कहा कि “आज सत्ता में एक हिंदुत्व समर्थक बहुमत सरकार है। फिर भी, यह अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए तैयार नहीं है और अदालत के हाथ में भविष्य छोड़ दिया है।’ आगे लिखा गया है कि ‘हिंदुत्व समर्थक सरकार के बावजूद, कश्मीरी पंडितों की घर वापसी नहीं हुई है।”

राष्ट्रगान पर चल रही बहस पर शिवसेना ने आरएसएस पर तंज कस्ते हुए कहा कि यदि यह अन्य खड़े ना होकर राष्ट्रगान का अपमान कर रहे हैं, तो आरएसएस प्रमुख को हिंदुत्व समर्थक सरकार को दिशा-निर्देश देना चाहिए कि ऐसे लोगों के खिलाफ क्या कदम उठाया जाए।

ये भी पढ़ें :-  शर्मनाक: जब गैंगरेप पीड़िता से आने लगी बदबू तो डॉक्टर इलाज के बजाए बोले-'इसे ले जाओ नहीं तो सड़क पर फेंक देंगे'
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>