पश्चिम बंगाल में 18 विधानसभा क्षेत्रों में 81 प्रतिशत से अधिक वोटिंग

Apr 05, 2016

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के पहले चरण में 18 विधानसभा क्षेत्रों में सोमवार को मतदान का समय खत्म होने तक 81 प्रतिशत से अधिक वोट पड़े.

निर्वाचन अधिकारियों के मुताबिक मतदान का समय खत्म होने के बाद भी मतदान केंद्रों पर लोगों की कतार खड़ी है, जिसके कारण मतदान प्रतिशत और बढ़ने की उम्मीद है.

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सुबह सात बजे पश्चिम मेदिनीपुर,बांकुरा और पुरुलिया जिले के कुछ हिस्सों में शुरू हुआ मतदान शाम पांच बजे शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ और कहीं से भी किसी बड़ी अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली .

हांलाकि वाम मोच्रे और कांग्रेस गठबंधन ने बांकुरा और पश्चिमी मेदिनीपुर जिलों में कई मतदान केंद्रों पर फर्जी मतदान किये जाने का आरोप लगाया है. मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने दो मतदान केंद्रों पर कब्जा किये जाने का आरोप लगाया है लेकिन जिलाधिकारी ने इसका खंडन किया है.   चुनाव आयोग के मुताबिक उन्हें विभिन्न अनियमितताओं की लगभग 500 शिकायतें मिली हैं.

रानी बांध विधानसभा क्षेत्र में दो मतदान केंद्रों पर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में गड़बड़ी के कारण मतदान स्थगित करना पड़ा हालांकि वोटिंग मशीनें बदली जाने के बाद मतदान फिर शुरू हो गया. चुनाव आयोग ने पहले चरण के 4945 मतदान केंद्रों में से 1962 को संवेदनशील घोषित किया है जबकि 562 मतदान केंद्रों पर वोटर वेरिफाएबल ऑडिट ट्रेल्स किया गया .

सुबह से ही मतदान केंद्रों पर बड़ी संख्या में मतदाता जुटने लगे थे जिनमें बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल हैं.  इस चरण में नयाग्राम (अनुसूचित जनजाति), गोपीबल्लभपुर, झारग्राम, सालबोनी, मेदिनीपुर, बिनपुर (अनुसूचित जनजाति), बंदवान (अनुसूचित जनजाति), बलरामपुर, बाघमंडी, जॉयपुर, पुरुलिया, मानबाजार (अनुसूचित जनजाति), काशीपुर, पारा (अनुसूचित जनजाति), रघुनाथपुर (अनुसूचित जनजाति), रानीबांध (अनुसूचित जनजाति), रायपुर (अनुसूचित जनजाति) एवं टालडांगरा सीटों पर वोट ड़ाले जा रहे हैं.

इस चरण में 19 लाख 57 हजार 453 महिलाओं समेत कुल 40 लाख नौ हजार 171 मतदाता 133 उम्मीदवारों के चुनावी भाज्ञ का फैसला किया. इस चरण के लिए तृणमूल कांग्रेस, मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी एवं कांग्रेस गठबंधन, भारतीय जनता पार्टी आदि समेत सभी प्रमुख दलों ने सभी 18 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं.

उल्लेखनीय है कि पश्चिम बंगाल में कुल 294 विधानसभा सीटें हैं. इन सीटों के लिए छह चरणों में मतदान होगा.नक्सल प्रभावित जंगलमहल की 40 में से 22 सीटों पर पहले चरण के दूसरे भाग में 11 अप्रैल को मतदान होना है. अंतिम चरण का मतदान पाँच मई को होगा.

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>