उत्तराखंड में तेज बारिश, बादल फटने से 17 लोगों की मौत

Jul 01, 2016

देहरादून: उत्तराखंड में भारी बारिश और भूस्खलन की वजह से ऋषिकेश-बद्रीनाथ नेशनल हाईवे (एनएच-58) बंद हो गया है। पिथौड़ागढ़ और चमोली जिले में बादल फटने की वजह से 17 लोगों की मौत हो गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चमोली से चार लोगों के शव और डीडीहाट से पांच लोगों के शव बरामद किए गए हैं। चमोली जिले के घाट क्षेत्र में बाढ़ की वजह से कई मकान बह गए हैं।

सूबे में हो रही भारी बारिश की वजह से अलकनंदा खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। पिछले 24 घंटों में 54 मिली मीटर से ज्यादा बारिश रिकॉर्ड की गई है। गौरतलब है कि मॉनसून के आते ही उत्तराखंड में जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो जाता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, धारचूला के सुवा गांव में कृषि क्षेत्र के बड़े हिस्से बर्बाद हो गए हैं। बारिश की वजह से देवप्रयाग के पास ऋषिकेश-बद्रीनाथ हाईवे भूस्खलन की वजह से बंद हो गया है। थल-मुनस्यारी रोड़ के ब्लॉक होने की वजह से दोनों तरफ दर्जनों गाड़ियां जमा हो गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यमुनोत्री हाईवे पर ट्रैफिक जाम हो गया है। गंगोत्री में भूस्खलने के बाद केदारनाथ हाईवे पर भारी जाम लग गया है। मौसम विभाग का कहना है कि सूबे में अगले दो दिनों में भारी बारिश हो सकती है।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>