CRPF पर हुए हमले के मद्देनजर, राजनाथ सिंह की उच्च स्तरीय बैठक

Jun 29, 2016

जम्मू- कश्मीर के पंपोर में सीआरपीएफ की बस पर हुए आतंकी हमले के मद्देनजर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को उच्च स्तरीय बैठक बुलाई.

इस बैठक में एनएसए अजीत डोभाल के साथ ही रॉ और आईबी चीफ शामिल थे. बैठक में आतंकी वारदात की उच्च स्तरीय जांच के निर्देश दिए गए, वहीं सुरक्षा में चूक को लेकर नीति में कई बड़े बदलाव भी किए गए.

बैठक में कश्मीर की सुरक्षा नीति में बदलाव करने का फैसला किया गया. इसके तहत अब सुरक्षा बल के जवान बिना बख्तरबंद गाड़ियों के साथ नहीं चलेंगे. जबकि काफिले की सुरक्षा की जिम्मेदारी सबसे आगे सेना को दी जाएगी.

ये भी पढ़ें :-  अमित शाह के बेटे पर पहली बार आया RSS का बयान- कहा, आरोप में दम हो तभी जांच होनी चाहिए..

इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर में सभी अर्धसैनिक बलों के काफिले में सबसे आगे सेना की रोड ओपनिंग पार्टी होगी.

पंपोर हादसे पर दुख जताते हुए गृह मंत्री ने हमले के दौरान सुरक्षा में हुई चूक की जांच के निर्देश दिए. बैठक में निर्णय किया गया कि अर्धसैनिक बलों के काफिले की गाड़ियों में मेटल प्लेट लगाए जाएंगे, जिससे उन पर गोलियों का असर न हो. साथ ही रोड ओपनिंग पार्टी के माइन प्रोटेक्शन व्हेकिल भेजे जाएंगे ताकि ब्लास्ट से बचा जा सके.

पंपोर हमले के बाद गृह मंत्रालय ने अमरनाथ यात्रा को और सुरक्षित करने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा बल भेजे हैं. सुरक्षा के लिहाज से हाईवे को सबसे बड़ी प्राथमिकता रखा गया है.

ये भी पढ़ें :-  मोदी-शाह ने विकास को पागल कर दिया है, इसे कांग्रेस पागलखाने से बाहर लाएगी : राहुल गांधी

गृह मंत्रालय की फैक्ट फाइंडिंग टीम की रिपोर्ट के बाद सुरक्षा नीति और बदलाव हो सकते हैं. बताया जाता है कि रिपोर्ट के बाद ही पंपोर हमले में चूक जिम्मेदारी तय होगी और कार्रवाई की जाएगी.

गौरतलब है कि शनिवार को पंपोर में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकियों ने हमला किया था, जिसमें हमारे 8 जवान शहीद हो गए. जवाबी कार्रवाई में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>