गुजरात बोर्ड की किताब में रोज़े को बताया ‘संक्रमण वाली बीमारी’, खड़ा हुआ विवाद..

Jul 11, 2017
गुजरात बोर्ड की किताब में रोज़े को बताया ‘संक्रमण वाली बीमारी’, खड़ा हुआ विवाद..

इन दिनों एक और नया विवाद खड़ा हो गया है। क्योंकि एक बार फिर गुजरात बोर्ड की किताब में एक और गलती पकड़ी गई है। जहाँ गुजरात स्टेट स्कूल टेक्स्टबुक बोर्ड की चौथी क्लास की हिंदी की किताब में रोज़ा “Fast” रखने को संक्रमण वाली बीमारी बताया गया है।

ख़बरों के मुताबिक इस किताब के तीसरे पाठ में रोजे शब्द का अर्थ बीमारी बताया गया है। इस में रोज़े का अर्थ ये समझाया गया है। कि यह एक संक्रामक रोग है जिसमें दस्त और काई आती है। जब इस मामले को जीएसएसटीबी के चेयरमैन के सामने उठाया गया तो उन्होंने इस को प्रिंटिंग के दौरान हुई गलती की बात बताई है। उन्होंने इसके बारे में बात करते हुए कहा कि “इस शब्द को रोजा नहीं हैजा होने था, मगर गलती से ये शब्द आपस में बदल गए होंगे।”

ये भी पढ़ें :-  महिला ने की प्रधानमंत्री मोदी पर ‘देशद्रोह’ का मुकदमा दर्ज करने की मांग

उन्होंने ये भी कहा कि यही किताब बच्चों को साल 2015 से पढाई जा रही है। लेकिन इस से पहले इस तरह की कोई गड़बड़ की बात सामने नहीं थी। उन्होंने हुई इस गलती को तुरंत ठीक कराने की बात कही है। लेकिन अहमदाबाद के एक संगठन ने इस बात को ऊपर तक लेकर जाने को कहा है। संगठन को चलाने वाले मुजाहिद नफीस का कहना है। कि वह जीएसएसटीबी और राज्य सरकार के खिलाफ इस मामले को लेकर शिकायत करेंगे।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>