भारत में 1 करोड़ 20 लाख बच्चे ‘बाल विवाह’ के हैं शिकार, हिन्दू समाज में होते हैं सबसे अधिक

Aug 24, 2017
भारत में 1 करोड़ 20 लाख बच्चे ‘बाल विवाह’ के हैं शिकार, हिन्दू समाज में होते हैं सबसे अधिक

भारत में करीब 12 मिलियन बच्चे ऐसे हैं जिनका 10 साल की उम्र में ही शादी कर दी जाती है। ‘इंडिया स्पेंड संस्था’ के द्वारा किये गए सर्वे से ये पता चला है कि इन 12 मिलियन बच्चों में से तक़रीबन 84% बच्चे हिन्दू हैं जबकि लगभग 11% मुस्लिम समाज से हैं

बता दें कि ‘इंडिया स्पेंड संस्था’ के द्वारा किये गए सर्वे से ये हैरान करने वाली बात सामने आई है कि शादी होने वाले बच्चों में से 65% लड़कियां हैं। और जब इन लड़कियों की शादी हो जाती है तो इस में से सिर्फ 20% लड़कियां ऐसी हैं। जो आगे अपनी पढ़ाई कर पाती हैं। सर्वे के अनुसार हिन्दू समाज में शादी होने वाली लड़कियों में से 72% लड़कियां दिहयात क्षेत्र की हैं वहीँ 58% मुस्लिम समाज की हैं।

ये भी पढ़ें :-  दहेज की मांग पूरी न होने पर ससुराल वालों ने विवाहिता को लगा दी आग

इस सर्वे में जैन धर्म की महिलाएं के बारे में ये पता चला है कि वो करीब 21 साल की उम्र में शादी करती हैं। वहीँ दूसरी तरफ क्रिस्चन महिलायें करीब 20 वर्ष की उम्र में शादी करती हैं, इसके बाद सिख महिलाओं का नंबर आता है तो यहाँ की महिलायें की करीब 19 साल की उम्र में शादी की जाती है। इस लिस्ट में सबसे नीचे हिन्दू और मुस्लिम समाज का नंबर आता है जहाँ करीब करीब 16 साल की उम्र में ही लड़कियों की शादी कर दी जाती है

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>