सामने भूख से मर गया बेटा, 82 साल की माँ बोली-‘अगर शरीर में भीख मांगने की भी ताकत होती तो बचा लेती बेटे को’

Jan 05, 2018
सामने भूख से मर गया बेटा, 82 साल की माँ बोली-‘अगर शरीर में भीख मांगने की भी ताकत होती तो बचा लेती बेटे को’

कुछ दिनों पहले उत्तर प्रदेश के जिले बरेली से लगभग 30 किलोमीटर दूर कुदरिया इख्लासपुर के गांव में 42 साल के एक शख्स की भूख के चलते मौत हो गई थीं। जिसने तीन दिनों से खाना नहीं खाया था। उसकी मौत के बाद उसकी बुजुर्ग माँ ने मीडिया से जब बात कही है वो काफी हैरान करने वाली है। उसकी बुजुर्ग माँ ने बात करते हुए कहा कि ‘अब उसके शरीर में इतनी भी ताकत नहीं है कि वह घर से बाहर निकलकर भीख भी मांग सके लेकिन अगर उसके अंदर इतनी भी हिम्मत होती तो वह अपने बेटे को बचा लेतीं।’

ये भी पढ़ें :-  एक बार फिर से पाकिस्तान ने की शर्मनाक हरकत, पाक ने दागे गोले, 2 नागरिकों की मौत 7 हुए घायल

बता दें ये मामला उत्तर प्रदेश के जिले बरेली से लगभग 30 किलोमीटर दूर कुदरिया इख्लासपुर के गांव का है। जहाँ नेमचंद को तीन दिनों से खाना न मिलने की वजह से उसकी मौत हो गई। मिली रिपोर्ट के मुताबिक पड़ोसियों ने बताया कि नेमचंद को लकवे की बीमारी थी। इसी के चलते उसकी हालत बहुत ही खराब थी और उसने पिछले तीन दिनों से कुछ भी नहीं खाया था क्योंकि वह चलने-फिरने में असमर्थ था। लेकिन नेमचंद की 82 साल की बूढ़ी मां अपने बेटे को खोकर सन्न है। लाचारी भरी आवाज में इस बुजुर्ग माँ ने कहा कि ’10 दिन पहले ही बेटे की दवा लाने के लिए उसने राशन में मिले अनाज और केरोसीन को बेच दिया था।’


बुजुर्ग माँ इस बारे में बताया कि ‘चार दिन पहले पड़ोसियों ने उन्हें कुछ रोटियां दी थी। मगर मंगलवार सुबह को जब इस महिला ने बेटे को कुछ बची-खुची रोटियां खाने को दी, तो बीमारी के चलते वह खा नहीं सका। और तो और मां-बेटे दोनों इतने कमजोर थे कि ये दोनों दो दिन तक अपनी जगह से हिल भी नहीं सके। और हुआ ये कि तीसरे दिन नेमचंद की मौत हो गई।

ये भी पढ़ें :-  तीन लोगो ने दलित युवक की लाठी-डंडों से की बेरहमी से पिटाई, लगवाए जय माता दी के नारे, "देखे इस घटना का वीडियो"
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>