देसी गायों की संख्या बढ़ाने की कोशिश में, विदेशी सांडो के भरोसे बाबा रामदेव

Oct 12, 2016
देसी गायों की संख्या बढ़ाने की कोशिश में, विदेशी सांडो के भरोसे बाबा रामदेव
अब गोरक्षा के लिए बड़ा कदम उठाने जा रहे हैं। बाबा रामदेव जो अपने बनाए प्रोडक्टस के चलते बहुत चर्चा में हैं वह  इसके लिए उनका इरादा कोई दल बनाने का नहीं है। दरअसल, वह आर्टिफिशल इनसेमिनेशन (कृत्रिम गर्भाधान) के जरिए देश में दुधारू गायों की संख्या बढ़ाने की कोशिश हैं। इस योजना में अमेरिका और नीदरलैंड्स के एक्सपर्ट्स से तकनीकी मदद ली जाएगी। ब्राजील के बैलों के सीमन (वीर्य) का इस्तेमाल होगा। जिसकी वजह से 92 पर्सेंट गायों के जन्म की संभावना है। दुधारू गायों की संख्या बढ़ने से काटने के लिए बूचड़खाने में जाने वाली गायों की संख्या में कमी आएगी। गायों की नस्ल में सुधार से उनके दूध देने की अवधि अधिक हो जाएगी और वे अपना प्राकृतिक जीवनकाल पूरा कर सकेंगी।
देश की सबसे बड़ी कन्ज्यूमर गुड्स (FMCG) कंपनियों में शामिल होने के कगार पर खड़ी रामदेव की कंपनी पतंजलि इस महीने के अंत में नीदरलैंड्स की CRV BV के साथ एमओयू साइन करने जा रही है। CRV BV की ब्राजील में भी यूनिट्स मौजूद हैं।
टेक्नॉलजी और आइडेंटिफिकेशन के इस्तेमाल से ब्राजील ने ताकतवर बैलों की एक नस्ल तैयार की है।इस वजह से ये बैल मूल तौर पर तो भारतीय हैं, लेकिन वे ब्राजील में पैदा हुए और पले-बढ़े हैं।’ उन्होंने कहा, ‘नस्ल सुधार समय की जरूरत है। अधिक दूध देने वाली गायों की संख्या बढ़ने से देश की अर्थव्यवस्था को फायदा होगा। हमें अच्छा चारा देकर और बेहतर देखभाल कर गायों की नस्ल सुधारने की जरूरत है। पतंजलि इस योजना का स्वदेशीकरण करने पर भी विचार करेगी। कंपनी के एक एग्जिक्युटिव ने बताया, ‘देश में गायों की नस्ल में सुधार के लिए पतंजलि बहुत जल्द एक स्वदेशी टेक्नॉलजी पेश करने की भी कोशिश करेगी।
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>