ज़रूरी जनकारी, इस तरह लगाएं पता, अंडा प्लास्टिक का है या मुर्गी का..

Jun 20, 2017
ज़रूरी जनकारी, इस तरह लगाएं पता, अंडा प्लास्टिक का है या मुर्गी का..

किसी ने शायद सोचा भी नहीं होगा कि, सेहद बनाने वाले अंडे अब सेहद बिगड़ कर किसी को भी बीमार भी कर सकतें हैं। इन दिनों बाज़ार में खूब तेज़ी से प्लास्टिक के अंडे बेचे जा रहें हैं, और अब शायद हर दुकान पर भी यही अंडे बिक रहें हैं। शायद खुद दुकानदार को भी नहीं पता कि, वह जो अंडे बेच रहा है असली हैं या फिर प्लास्टिक के। हमारे शरीर को प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन और ओमेगा3 फैटी एसिड से भरपूर रखने वाला अंडा अब बन चूका है नखलि, नकली अंडे आपकी सेहत को भरी नुकसान कर सकते हैं। अब आपके लिए ज़रूरी है कि नकली और असली अंडों के बीच का अंतर जानना। इन दोनों के बीच फर्क महसूस करना एक मुश्किल काम है, लेकिन नामुनकिन नहीं। इस तरह आपको करनी है इनकी पहचान….

ये भी पढ़ें :-  पेट के बल सोने वाले लोग हो जाएं सावधान, शरीर में हो सकती है कई गंभीर बीमारियां

इस तरह करें पहचान..
प्लास्टिक के अंडे बाहरी परत थोड़ी चमकीली और खुरदुरी होती है।
प्लास्टिक के अंडे आकार में असली अंडे से छोटे होते हैं।
प्लास्टिक के अंडे का छिलका थोड़ा सख्त होता है| छिलके के अंदर रबरनुमा कोटिंग होती है।
प्लास्टिक के अंडे का भीतरी हिस्सा उबालने के बाद सख्त हो जाता है।
प्लास्टिक के अंडा जल्दी खराब नहीं होता और ना ही इससे गंध आती है।
प्लास्टिक के अंडे को बाहर खुले में रखने पर इसमें मक्खियां, चीटियां, अन्य कीड़े नहीं लगते।
प्लास्टिक के अंडे को बनाने में असली अंडों के मुकाबले कम खर्च आता है।
प्लास्टिक के अंडे को फोड़ने से पहले हिलाने पर अंदर से आवाज़ होती है।
प्लास्टिक के अंडे उबलने के बाद पानी में नहीं डूबते, ये अंडे पानी के ऊपर ही तैरने लगते हैं।
प्लास्टिक के अंडे का यॉर्क फोड़ते ही सेकंड के अंदर सफेद हिस्से में खुलने लगता है।
प्लास्टिक के अंडे का यॉर्क असली अंडे के मुकाबले कुछ अधिक पीला होता है।
प्लास्टिक के अंडे के छिलके को जलाने पर प्‍लास्‍टिक के जलने की गंध आती है।

ये भी पढ़ें :-  पेट के बल सोने वाले लोग हो जाएं सावधान, शरीर में हो सकती है कई गंभीर बीमारियां
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>