EVM की गड़बड़ियों के आरोपों को लेकर अगर पीआईएल हुई तो फिर से हो सकता है चुनाव

Mar 14, 2017
EVM की गड़बड़ियों के आरोपों को लेकर अगर पीआईएल हुई तो फिर से हो सकता है चुनाव

EVM की गड़बड़ियों के आरोपों को लेकर अगर पीआईएल की गई तो चुनाव के परिणाम पर रोक भी लग सकती है, गौरतलब है कि बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने चुनाव के परिणाम आते ही कहा कि EVM में गड़बड़ी करके उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव जीता गया है। अब देखना ये है की कितनी पार्टिया इसके लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाती हैं। अगर ऐसा होता है तो कोर्ट को जनहित के पूरे मामले को संज्ञान में लेना होगा।

मायावती ने कहा कि जांच पूरी होने तक यूपी और उत्तराखंड के चुनाव परिणामों को तत्काल प्रभाव से रोका जाना चाहिए। हालांकि ऐसा होता है या नहीं इसकी संभावना कम है, और भाजपा इसको लेकर विपक्षी दलों की मांग को गंभीरता से लेगी इसकी भी संभावना कम है। क्योंकि पीआईएल को लेकर कोर्ट का फैसला आने में भी समय लग सकता है।

उधर, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने उत्तर प्रदेश में भाजपा की बड़ी जीत पर कहा कि इस हार में गठबंधन की कोई कमी नहीं रही है, बीजेपी ने चुनाव में पैसे का प्रयोग किया जो गठबंधन के हार की वजह बनी। उन्होंने EVM की विश्वसनीयता पर सवाल उठाते हुए कहा कि ईवीएम में गड़बड़ी भी इन नतीजों की वजह हो सकती है। इससे पहले राज बब्बर ने कहा था कि भाजपा को छोड़कर सभी के साथ जाने के विकल्प कांग्रेस ने खुले रखे हैं, लेकिन यूपी में भाजपा को स्पष्ट बहुमत मिल रहा है। ऐसे में अब सपा के बसपा या किसी दूसरे गठबंधन की संभावनाएं ही खत्म हो गईं। कांग्रेस ने इस दफा समाजवादी पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था। कांग्रेस ने 105 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे, जबकि 298 पर सपा ने अपने कैंडिडेट उतारे। माना जा रहा था कि अगर जरूरत पड़ी तो सपा, बसपा और कांग्रेस साथ में सरकार बना सकते हैं।

EVM की गड़बड़ियों के आरोपों को लेकर चुनाव आयोग का कहना है कि EVM का निर्माण सार्वजनिक क्षेत्र की दो कंपनियों भारत इलेक्ट्रॉनिक लिमिटेड, बेंगलुरु और इलेक्ट्रॉनिक कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड, हैदराबाद द्वारा किया जाता है। इसमें टेंपर किया जाना मुश्किल है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>