अगर इफ्तार पार्टी में शरीक होना धर्म के खिलाफ है तो भी हमेशा शामिल होती रहूँगी: ममता बनर्जी

Mar 29, 2017
अगर इफ्तार पार्टी में शरीक होना धर्म के खिलाफ है तो भी हमेशा शामिल होती रहूँगी: ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को मुस्लिम धर्म के पाक महीने रमजान में इफ्तार में शामिल होने को लेकर की जाने वाली आलोचना पर ममता ने कहा कि जो लोग ये कहते है कि मैं इफ्तार पार्टी में शिरकत करती हूँ। औए अगर इफ्तार पार्टी में शामिल होना धर्म के खिलाफ है तो मैं बार-बार जाऊँगी। उन्होंने कहा कि मुझे ऐसे धर्म पर बिलकुल यकीन नहीं है जो लोगों के बीच प्यार का समर्थन नहीं करता। मुझे ऐसे धर्म में यकीन है जो लोगों को एक-दूसरे से प्यार करना सिखाता हो।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जलपैगुरी स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स में रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में हर धर्म के लोगो के लिए जगह हैं। यहाँ पर हिन्दू, मुस्लिम, ईसाई, आदिवासी, हिंदी और उर्दू भाषा बोलने वाले लोग रहते हैं। जो किसी भी तरह के सांप्रदायिक उकसावे के शिकार नहीं हैं।

बीजेपी या आरएसएस का नाम लिए बगैर ममता ने कहा कि वह तोड़फोड़ की राजनीति नहीं करती है। कहा, मैं दुर्गा पूजा करती हूं और यह बात गर्व से कहती हूं। मुझे इसमें कोई दिक्कत नहीं है। यदि कोई मुझे गुरूद्वारा नहीं जाने की बात कहे, तो मैं इस बात को नहीं मानूंगी। मैं ऐसे किसी शख्स की भी नहीं सुनती जो मुझे चर्च जाने से रोकता हो, मैं वहां हजार बार जाउंगी। ममता ने खुद अपना उदाहरण देते हुए कहा कि दुर्गा पूजा करती हैं और साथ ही शाम में इफ्तार पार्टी में भी जाती है और क्रिसमस पर रात को उत्सव में भी शामिल होती हैं. उन्होंने कहा कि मुझे ऐसे धर्म पर यकीन नहीं है जो लोगों के बीच प्यार का समर्थन नहीं करता।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>