सांभर लेक मैं रहा जायरीनों का आने सिलसिला जारी

Apr 12, 2016

जयपुर/सांभर लेक मे सालाना होने वाले हजरत ख्वाजा हुसामुद्दीन जिगर सोख्ता कि दरगाह पर उर्स का मेला शुरु होने मे अभी बहुत कुछ दिन बाकी हे लेकिन अजमेर हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती कि दरगाह मे मेले के चलते रोजाना सांभर कि दरगाह पर ज़ायरीनो का का हुजूम देखा जाता सकता है यहा सांभर दरगाह शरीफ के दर पर दुआ मांगने करीब रोजाना तीन से चार हजार जायरीन अजमेर दरगाह के दर पर होते हुये बसो के द्वारा उत्तर प्रदेश व गुजरात सहीत देश के कोने कोने से लोग यहा आ रहे है यहा पर सभी धर्म जाति के अकीदतमंद आते हैं और मन की मुराद पाते हे साथ ही यहा इबादत करती महिलायें भी दुआ में हाथ उठाये दिखती नजर आती हे तो बच्चे भी मजार कि चोखट चुमते नजर आते है। साथ ही हज़रत के आस्ताना पर अकीदत की चादर और फूल पेश करने के साथ-साथ जायरीन खासों आम सभी के लिए लंगर कि व्यव्स्था लंगर खाने मे है।
सांभर में हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती के पोते हजरत ख्वाजा हुसामुद्दीन जिगर सोख्ता के 697 वें उर्स की तैयारीया भी जोरो शोरो से चल रही हे अंजुमन हुसामिया इस्लामियां कमेटी दरगाह शरीफ सांभर के जनरल सेकेट्री मिर्जा मुबारक बेग ने बताया कि दरगाह पर चार दिवसीय उर्स का आगाज होगा इस मौके पर अजमेर दरगाह दीवान की ओर से मजार शरीफ पर चादर पेश की जाएगी। कुल की महफिल होगी। इस अवसर पर दरगाह में विशेष रोशनी व कव्वालीयो कि महफिल होगी ओर आखरी दिन को ख्वाजा साहब की दरगाह पर कुल की रस्म के साथ उर्स का समापन होगा। चार दिवसीय उर्स की विधिवत शुरुआत 19 अप्रेल को होगी। समापन 22 अप्रेल को होगा।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

Jan 19, 2018

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>