हैदराबाद टेस्ट : बांग्लादेश की पहली पारी 388 रनों पर समाप्त

Feb 12, 2017
हैदराबाद टेस्ट : बांग्लादेश की पहली पारी 388 रनों पर समाप्त

बांग्लादेश की टीम राजीव गांधी स्टेडियम में खेले जा रहे इकलौते टेस्ट मैच में भारत के पहली पारी के विशाल स्कोर 687 रनों के सामने अपनी पहली पारी में 388 रन ही बना सकी। मैच के चौथे दिन रविवार को वह अपने सभी विकेट गंवाकर पवेलियन लौट गई और फॉलोऑन नहीं बचा सकी। हालांकि उसने विशाल स्कोर के बावजूद संघर्ष का बेहतरीन नमूना पेश किया और भारतीय गेंदबाजों का जमकर इम्तिहान लिया।

भारत ने मेहमानों को फॉलोऑन न देकर अपनी दूसरी पारी खेलने का निर्णय लिया है।

बांग्लादेश के संघर्ष की आगुवाई कप्तान मुश्फिकुर रहीम ने की। उन्होंने नेतृत्व क्षमता का बेहतरीन उदाहरण पेश करते हुए एक छोर संभाले रखा और सर्वाधिक 127 रनों का योगदान दिया। मेहमान टीम के कप्तान ने अपनी पारी में 16 चौके और दो छक्के लगाए। रहीम का यह भारत के खिलाफ दूसरा और कुल पांचवां शतक है।

रहीम के अलावा शाकिब अल हसन ने 82 और मेहदी हसन मिराज ने 51 रनों का योगदान दिया।

अपने शनिवार के स्कोर छह विकेट के नुकसान पर 322 रनों से आगे खेलने उतरी मेहमान टीम चौथे दिन खाते में 66 रन ही जोड़ पाई और बाकी के चार विकेट गंवा कर पवेलियन लौट गई।

मेहमान टीम को दिन का पहला झटका हसन के रूप में लगा। दिन की चौथी गेंद पर ही भुवनेश्वर कुमार ने उनके विकेट उखाड़ दिए। टीम के खाते में वह एक भी रन का इजाफा नहीं कर पाए थे। दूसरे छोर पर खड़े कप्तान को तईजुल इस्लाम (10) का साथ भी नहीं मिला। उन्हें उमेश यादव ने विकेट के पीछे रिद्धिमान साहा के हाथों कैच कराया।

तस्कीन ने कप्तान का साथ देने की कोशिश की। 121वें ओवर में रवींद्र जडेजा ने 368 के कुल स्कोर पर उनके खिलाफ कैच की अपील की जिसे मैदानी अंपायर ने आउट करार दिया, लेकिन तस्कीन ने इस पर रिव्यू मांगा और मैदानी अंपायर को अपना फैसला बदलना पड़ा। लेकिन चार ओवर बाद जडेजा ने तस्कीन को स्लिप पर खड़े अंजिक्य रहाणे के हाथों कैच करा उनकी पारी का अंत किया। वह 378 के कुल स्कोर पर पवेलियन लौटे।

पांव जमाकर खड़े कप्तान रहीम का पारी का अंत करते हुए अश्विन ने बांग्लादेश की पारी समाप्त की। रहीम, अश्विन की लेग स्टंप के बाहर जाती गेंद को मारने के प्रयास में विकेट के पीछे साहा को कैच दे बैठे। अश्विन का यह टेस्ट क्रिकेट में 250वां विकेट था। वह टेस्ट इतिहास में सबसे तेज 250 विकेट लेने वाले पहले गेंदबाज बन गए हैं।

भारत की तरफ से उमेश यादव ने सबसे ज्यादा तीन विकेट लिए। जडेजा, अश्विन को दो-दो विकेट मिले। ईशांत शर्मा और भुवनेश्वर को एक-एक विकेट मिला।

भारत ने भी भोजनकाल तक अपनी दूसरी पारी में एक ओवर में बिना किसी नुकसान के एक रन बना लिया है। मुरली विजय ने यह एक रन बनाया। लोकेश राहुल को अपना खाता खोलना बाकी है।

इससे पहले, भारत ने कप्तान विराट कोहली (204), मुरली विजय (108), रिद्धिमान साहा (106), चेतेश्वर पुजारा (83), अंजिक्य रहाणे (82), रवींद्र जडेजा (नाबाद 60) की बेहतरीन पारियों की बदौलत अपनी पहली पारी छह विकेट के नुकसान पर 687 रनों पर शुक्रवार को घोषित कर दी थी।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>