(ऑनर किलिंग) के खिलाफ पाकिस्तान में उलेमा ने किया फतवा जारी

Jun 13, 2016

पाकिस्तान में बरेलवी पंथ से जुड़े एक संस्थान ने झूठी शान के नाम पर हत्या (ऑनर किलिंग) के खिलाफ फतवा जारी करते हुए इसे ‘गैर-इस्लामी और अक्षम्य पाप’ करार दिया है.

सुन्नी इत्तेहाद काउंसिल (एसआईएस) बैनर तले उलेमा ने एक संवाददाता सम्मेलन में लाहौर में रविवार को इसे ‘कुफ्र’ (अधर्म) करार दिया.

फतवा में कहा गया है कि अपनी पसंद से शादी करने वाली महिलाओं को जिंदा जलाना इस्लाम के खिलाफ है.

इसने लाहौर, एबटाबाद और मरी में हाल में झूठी शान के लिए की गई हत्याओं की निंदा करते हुए कहा कि ऐसी घटनाएं पूरे समाज को हिला देती हैं. ऐसी घटनाओं का विरोध करते हुए पंथ ने कहा कि हम सामाजिक पतन की ओर बढ़ रहे हैं.

इसने कहा है कि परिवार की शान में हत्याएं करना अज्ञान और जिद का नतीजा है.

फतवे में सरकार से गुजारिश की गई है कि वह ऐसे अपराधों को काबू करने के लिए उचित कानून लागू करे.

साथ ही फतवे में महिलाओं को जलाने या हत्या करने जैसे जघन्य कृत्यों को अक्षम्य अपराध करार दिया गया और कहा गया कि महिलाओं के अधिकारों की रक्षा करना इस्लामिक सरकार की जिम्मेदारी है.

पाकिस्तान में पिछले साल झूठी शान के नाम पर कम से कम 1,100 महिलाओं को मारा गया.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>