समलैंगिक संबंध अपराध नहीं : RSS लीडर दत्तात्रेय होसबोले

Mar 18, 2016

समलैंगिकों के विवाद में आरएसएस की ओर से बड़ा बयान आया है, एक प्रतिष्ठित मीडिया हाउस के कॉन्क्लेव में आरएसएस के दत्तात्रेय होसबोले ने इस बात की वकालत की कि समलैंगिक संबंध अपराध नहीं होना चाहिए.

आरएसएस नेता ने कहा, “मैं नहीं समझता कि समलैंगिक संबंधों को अपराध की श्रेणी में रख जाना चाहिए, क्योंकि ये दूसरे समाज की ज़िंदगियों पर कोई असर नहीं डालता.”

गुरुवार कोएक प्रतिष्ठित मीडिया हाउस के कॉन्क्लेव में बोलते हुए संघ के संयुक्त महासचिव दत्तात्रेय होसाबले ने कहा, ‘समलैंगिकता पर आरएसएस की राय क्यों होनी चाहिए? जबतक दूसरों के जीवन पर असर नहीं डालती तबतक यह अपराध नहीं है.’ दत्तात्रेय ने कहा कि सेक्स चुनाव किसी का भी निजी मसला है.

होसबोले के बयान का बड़ा असर ये हो सकता है कि सुप्रीम कोर्ट में चल रहे केस पर सरकार का रुख बदल सकता है.

दरअसल, साल 2009 में दिल्ली हाईकोर्ट ने समलैंगिक संबंधों को अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया था, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने साल 2013 में इसे दोबारा अपराध की श्रेणी में डाल दिया. सुप्रीम कोर्ट इसका आदेश दे चुका है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सरकार ने भी विरोध नहीं किया है.

हालांकि, समलैंगिक संबंधों के समर्थक लगातार इसे अपराध की श्रेणी से बाहर रखने की मांग कर रहे हैं.

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>